Press "Enter" to skip to content

कुपोषण को दूर करने जिला पंचायत सदस्य कदम से कदम मिलाकर करेंगे सहयोग, प्रथम सम्मिलन में जिला पंचायत सदस्यों ने कुपोषण एवं स्थायी समिति गठन करने के प्रस्ताव पर की चर्चा

जांजगीर-चांपा. जिला पंचायत सभाकक्ष में नव निर्वाचित पदाधिकारियों का प्रथम सम्मिलन का आयोजन किया गया। प्रथम सम्मिलन में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं सदस्यों के शपथ ग्रहण एवं पदभार ग्रहण किया। इसके उपरांत जिपं अध्यक्ष श्रीमती यनिता यशवंत चंद्रा की अध्यक्षता में जिले में कुपोषण को दूर करने एवं जिला पंचायत की स्थायी समितियों के गठन के संबंध में चर्चा की गई। इस दौरान जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी तीर्थराज अग्रवाल मौजूद रहे।
प्रथम सम्मिलन के दौरान बैठक में जिपं अध्यक्ष श्रीमती चंद्रा की अनुमति से दो प्रस्तावों पर चर्चा की गई। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एस.आर.बंजारे ने बताया कि 0 से 6 वर्ष के बच्चे तथा 18 वर्ष की किशोरी बालिकाएं एवं 18 वर्ष से 49 वर्ष की महिलाओं में कुपोषण अन्य जिलों की तुलना में अधिक होने के कारण चिंता का विषय है। इस विषय पर जिपं के नवनिर्वाचित सदस्यों को कुपोषण से जिले को दूर करने के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई। उन्हें जिले में कुपोषण की समस्या को दूर करने, ग्रामीण स्तर पर वृहद चलाए जा रहे कार्यक्रम, पोषण पुनर्वास केन्द्र आदि के बारे में अवगत कराया गया।

READ ALSO-  छत्तीसगढ़: भाजपा को मिला नया नेता प्रतिपक्ष, वरिष्ठ विधायक नारायण चंदेल के नाम पर लगी मुहर

सदस्यों ने भी कुपोषण को लेकर चिंता व्यक्त करते हुए छत्तीसगढ़ शासन एवं जिला प्रशासन के कुपोषण अभियान में कदम से कदम मिलाकर सहयोग करने की बात कही। कुपोषण को दूर करने के प्रस्ताव को सर्वसम्मति से सदस्यों ने एकमत होकर पास किया। इसके अलावा दूसरा प्रस्ताव जिला पंचायत की स्थायी समिति का गठन के लिए विहित प्राधिकारी से समय तिथि एवं बैठक बुलाने एवं निर्वाचन की प्रक्रिया संपन्न कराये जाने तथा स्थायी समितियों के अतिरिक्त गठन छत्तीसगढ़ पंचायत राज अधिनियम 1993 की धारा 47(2) की उपधारा 1 एवं (2) के अधीन विनिदृष्ट 03 अन्य समिति का गठन किया जाना है। जिसमें पर्यावरण एवं औद्योगिक सुरक्षा, कुटीर एवं लघु उद्योग स्थायी समिति, पशुधन विकास एवं मत्स्य पालन, रेशम विभाग स्थायी समिति एवं सामाजिक कल्याण, हितग्राही मूल पेंशन योजना, मजदूर एवं श्रमिक कल्याण योजना स्थायी समिति का प्रस्ताव रखा। सदन में चर्चा उपरांत सर्वसम्मति से तीनों समितियों के गठन का प्रस्ताव पास किया गया। जिला पंचायत सीईओ श्री अग्रवाल ने सदन को अवगत कराया कि पारित प्रस्ताव को नियमानुसार कार्यवाही हेतु विहित प्राधिकारी, शासन की ओर पत्र भेजा जाएगा। बैठक में जिला पंचायत उपाध्यक्ष राघवेन्द्र प्रताप सिंह, सदस्य श्रीमती कुसुम कमल किशोर साव, लखन लाल साहू, राजकुमार साहू, गणेशराम साहू, धरमपाल भारद्वाज, श्रीमती शिवकुमारी रात्रे, दिलेश्वर साहू, अजीत साहू, श्रीमती सुष्मिता सिंह, इंजी. प्रदीप पाटले, लालबहादुर सिंह, श्रीमती उमा राजेन्द्र राठौर, श्रीमती जयकांता राठौर, गगन जयपुरिया, श्रीमती माधुरी टेकचंद्र चंद्रा, श्रीमती इंद्रा राजेश लहरे, श्रीमती विद्या सिदार, टिकेश्वर गबेल, श्रीमती हरिप्रिया वर्मा, श्रीमती साक्षी युगलकिशोर, श्रीमती रामबाई सिदार, श्रीमती कविता चंद्रकुमार पटेल सहित अधिकारी, कर्मचारी मौजूद रहे।

error: Content is protected !!