Press "Enter" to skip to content

चैतन्य उत्सव में शामिल हुए पद्मश्री डॉ. सुरेंद्र दुबे ने हास्य व्यंग्य से दर्शकों को किया मन्त्र मुग्ध, चैतन्य प्रतिभाओं को किया गया सम्मानित

जांजगीर-चाम्पा. पामगढ़ के चैतन्य कॉलेज में उन्नीसवाँ चैतन्य उत्सव व प्रतिभा सम्मान समारोह 1 फरवरी 2020 को पद्मश्री डॉ. सुरेंद्र दुबे अंतराष्ट्रीय व्यंगकार एवं ख्यातिलब्ध साहित्यकार व प्रो.गौरीदत्त शर्मा कुलपति अटल बिहारी बाजपेयी विवि बिलासपुर के मुख्य आतिथ्य में संम्पन्न हुआ। माता सरस्वती की प्रतिमा में दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का आगाज किया गया। डॉ. श्रीमती गरिमा तिवारी ने स्वागत भाषण देते हुए महाविद्यालय के गतिविधियों से परिचय कराते हुए कहा कि हमारा लक्ष्य शिक्षा के साथ छात्रों की प्रतिभाओं को पहचानना व उनको अवसर प्रदान करना है। इस बीच पद्मश्री डॉ. सुरेंद्र दुबे ने चैतन्य महाविद्यालय की व्यवस्था एवं शिक्षा, संस्कृति साहित्यिक अवदान का अवलोकन कर प्रशंसा करते हुए कहा कि चैतन्य कॉलेज सही मायनों में शिक्षा के साथ अन्य गतिविधियों के माध्यम से जनमानस में चेतना का संचार कर रहा है। एक न एक दिन राष्ट्रीय स्तर पर पहचान इस महाविद्यालय का जरूर होगा। उन्होंने अपने कामिक अंदाज से दर्शकों को मंत्र मुग्धकर कहा कि भारत का कोई प्रेरणाश्रोत व्यक्तित्व है तो वो स्वामी विवेका नंद जी है, हिंदी व छत्तीसगढ़ी व्यंग से जीवन की सत्यता को लोगों को सोंचने पर मजबूर कर दिया। साथ ही छात्र – छात्राओं व गणमान्य नागरिकों से खुलकर विचार विमर्श व चर्चा भी डॉ दुबे ने किया।

प्रो.गौरीदत्त शर्मा, कुलपति अटल बिहारी वाजपेयी विवि बिलासपुर ने चैतन्य उत्सव की तारीफ करते हुए महाविद्यालय से सम्बंधित अनुभवों को साझा किया. साथ ही महाविद्यालय की निरन्तर प्रगति का आशीर्वाद प्रदान किया। प्राचार्य डॉ. शरद के. बाजपेयी ने आगन्तुको का मंच के माध्यम से स्वागत व अभिनंदन किया। कॉलेज के संचालक वीरेंद्र तिवारी ने अतिथियों का आभार जताते हुए कहा कि इस देश में प्रतिभाओं की कमी नही है, बस अवसर देकर तराशना जरूरी है, प्रयास यही है कि छात्रों को प्रोत्साहित कर उनका व्यक्तित्व विकास कर सकें। इस बीच डॉ. दुबे व प्रो शर्मा को कॉलेज संचालक वीरेंद्र तिवारी व डॉ. श्रीमती गरिमा तिवारी ने शाल श्रीफल, खुमरी व स्मृति चिन्ह भेंट कर आशिर्वाद प्राप्त किया। महाविद्यालय के प्रतिभाशाली छात्र छात्राओं को समानित किया गया, साथ ही प्राध्यापकों व कर्मचारियों को सम्मानित किया गया जिसमें महाविद्यालय में संचालित चैलेंजर हाउस सुश्री अपूर्वा शर्मा को बेस्ट हाउस, व बेस्ट मेंटर श्रीमती अंशु रश्मि बारा, आलराउंड परफार्मेंस संजय बघेल , बेस्ट एकेडमिक अवार्ड सुरेंद्र साहू, बेस्ट नान एकेडमी अवार्ड हरि यादव को दिया गया साथ ही छात्रों के द्वारा मनमोहक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया। आयोजन में जांजगीर, चाम्पा, बिलासपुर के मूर्धन्य साहित्यकारों व साहित्य प्रेमी सहित बड़ी संख्या में नागरिक व छात्र छात्राएं मौजूद थे।



READ ALSO-  JanjgirChampa News: नवरात्रि का पर्व नारी शक्ति के सम्मान का पर्व है इसलिए देवी दुर्गा को शक्ति, नारी, मॉं, बुद्धि और लक्ष्मी का स्वरूप माना गया है: इंजी. रवि पांडेय
Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!