Press "Enter" to skip to content

वन्य प्राणी के अवैध शिकार में लिप्त 11 आरोपी पकड़ाए, वन विभाग की टीम की बड़ी कार्रवाई

रायपुर. वन मंत्री मोहम्मद अकबर के निर्देशन में राज्य में वन विभाग द्वारा वनों की सुरक्षा और इसके संवर्धन के लिए निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। साथ ही वनों की अवैध कटाई तथा वन्य प्राणियों के अवैध शिकार पर नियंत्रण के लिए सतत निगरानी रखी जा रही है।
इस तारतम्य में अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्य प्राणी) अरूण पाण्डेय ने बताया कि 1 मई को कोरबा जिले के कटघोरा वन मंडल के अंतर्गत पाली परिक्षेत्र में वन्य प्राणियों के अवैध शिकार में लिप्त 11 आरोपियों को पकड़ कर उनके खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। ग्राम डोंगानाला तथा सराईपाली निवासी इन आरोपियों के पास से मौके पर 10 धनुष-तीर, 5 नग फंदा-रस्सा जाल, 462 नग गुलेल आदि सामग्री सहित 4 नग मोबाइल भी जप्त किया गया है।
प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्य प्राणी) अतुल शुक्ला के मार्गदर्शन तथा वनमंडल कटघोरा के वन मंडलाधिकारी श्रीमती शमा फारूकी के निर्देशन में पाली वन परिक्षेत्र में 8 अधिकारियों तथा कर्मचारियों के गठित दल द्वारा लगातार निगरानी की जा रही है। दल द्वारा विगत दिवस एक मई को अपरान्ह 4 बजे पाली वन परिक्षेत्र के अंतर्गत दमिया जंगल तथा मुनगाडीह बीट में गस्त के दौरान वन्य प्राणियों के शिकार में लिप्त 7 आरोपियों को मौके पर पकड़ा गया। इसके अगले दिवस 2 मई को सुबह छह बजे आरोपियों के ग्राम डोंगानाला तथा सराईपाली में 7 आरोपियों सहित अन्य 4 आरोपियों के घर में सर्च के दौरान बड़ी मात्रा में शिकार में प्रयुक्त किए जाने वाले औजार तथा वन्य प्राणियों के अवशेष प्राप्त हुए। सर्च के दौरान अचानकमार टायरग रिजर्व से आया हुआ डाॅग स्कावड भी शामिल था।

READ ALSO-  छत्तीसगढ़ : दूल्हे के अरमानों पर फिर गया पानी, बारात निकलने से पहले ही उठा ले गई पुलिस, जानिए क्या है...पूरा मामला
error: Content is protected !!