Press "Enter" to skip to content

गजब का निखार देने के साथ ही बढ़ती उम्र को भी छिपाए रखते हैं ये 3 तरह के तेल…

सदियों से चेहरे की खूबसूरती बढ़ाने के लिए अलग-अलग तरह के तेलों का इस्तेमाल चेहरे पर किया जाता रहा है। इनके लगातार इस्तेमाल से नेचुरल ग्लो तो मिलता ही है साथ ही कई और दूसरे फायदे भी होते हैं जिसके बारे में आगे जानेंगे। लेकिन तीन ऑयल्स ऐसे हैं जो स्किन से जुड़ी ज्यादातर समस्याओं का कारगर इलाज हैं और वो हैं…

1. नील का तेल
नीम में विटामिन ई, एंटीऑक्सीडेंट्स, कैल्शियम और लिमोनॉयड्स जैसे कई तरह के फायदेमंद तत्व होते हैं। इसका क्लेंजिंग तत्व कील-मुंहासों की समस्या दूर कर चेहरे को एकदम साफ-सुथरा रखता है। इसके अलावा नीम के तेल से रिंकल्स, फाइन लाइन्स की समस्या दूर रहती है और ये कोलेजन प्रोडक्शन को भी बढ़ावा देता है। जिससे बढ़ती उम्र के असर को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

READ ALSO-  जल जीवन मिशन जागरूकता कार्यक्रम आयोजित, गांव की गलियों में रैली निकाली गई

2. बादाम का तेल
बादाम का तेल में भी भरपूर मात्रा में न्यूट्रिएंट्स होते हैं। विटामिन ए की मौजूदगी रेटिनॉल के लिए फायदेमंद होती है जो नए सेल्स को बढ़ावा देने के साथ फाइन लाइन्स की प्रॉब्लम दूर करते हैं। बादाम के तेल में विटामिन ई और ओमेगा-3 फैटी एसिड्स भी होते हैं। जो स्किन को गहराई से नमी प्रदान करते हैं। बढ़ती उम्र के साथ सेल्स डैमेजिंग को भी कंट्रोल करते हैं। इस तेल को लगाने से सन डैमेजिंग को भी रोका जा सकता है।

READ ALSO-  बांडीपोरा का वेवान गांव बना सबके लिए मिसाल, दो सालों में संक्रमण का कोई मामला नहीं आया सामने

3. मोरिंगा का तेल
सहजन के फूलों से तैयार किया जाता है यह तेल। इस तेल में भी ऐसे-ऐसे न्यूट्रिएंट्स पाए जाते हैं जो चेहरे पर नजर आने वाले असमय बुढ़ापे के असर को कम करने का काम करते हैं। एंटीऑक्सीडेंट्स की मौजूदगी रिंकल्स कम करने का काम करती है और स्किन की टाइटनेस को बरकरार रखती है। इसके अलावा विटामिन सी और बी स्किन डैमेजिंग को रोकते हैं। इस तेल में सीबम की मौजूदगी से स्किन हाइड्रेट रहती है और जब स्किन अंदर से हाइडेट रहती है तो रिंकल्स वगैरह की प्रॉब्लम वैसे ही नहीं होती।