Press "Enter" to skip to content

अपव्ययता से परहेज करें और विकसित छत्तीसगढ़ निर्माण में अपना योगदान दें : डॉ. महंत , मुख्यमंत्री कन्या विवाह में 160 जोड़े परिणय सूत्र में हुए आबध्द, डॉ. महंत ने दिया नवदाम्पत्यों को सुख और समृध्द जीवन की शुभकामनाएं

जांजगीर-चांपा. जांजगीर के हाईस्कुल मैदान में महिला एवं बाल विकास विभाग के तत्वाधान में मुख्यमंत्री सामुहिक कन्या विवाह में 160 जोडें परिणय सूत्र में आबध्द होकर नवदाम्पत्य जीवन का आगाज किया राज्य शासन की योजना के तहत प्रत्येक जोडें को गृहस्थ की आवश्यक सामाग्रियां प्रदान की गईं । सामूहिक विवाह समारोह को संबोधित करते हुए विघान सभा अध्यक्ष डांॅ. चरण दास महंत ने कहा की छत्तीसगढ़ सरकार ने गरीबों की मदद के लिए मुख्यमंत्री सामुहिक विवाह योजना प्रारंभ की है, ताकी उन्हें आर्थिक समस्याओं का सामना न करना पडे। उन्होंने नवदम्पत्तियों का आव्हान कर कहा कि वे परिवार में सदभावना, आपसी प्रेम और शांति से रहते हुए अपना,अपने परिवार और छत्तीसगढ के विकास में अपना योगदान करें। डॉ. महंत ने कहा कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था को पुर्नजिवित करने तथा गरीबों के आर्थिक विकास के लिए नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी योजना प्रारंभ की गई है।



उन्होंने कहा कि इस योजना से सभी ग्रामीण जुडे और अपना आर्थिक विकास करें उन्होंने कहा कि हमारे पूर्वजों द्धारा िंसचाई के लिए बनाये गये बांधों के कारण जांजगीर धान के उत्पादन में अग्रणी जिला बन गया है। जिले के सभी किसानों से सर्मथन मूल्य पर धान की खरीदी की गई है. उन्होंने सामूहिक विवाह में शामिल सभी जोडों को उनके सुखमय गृहस्थ जीवन के लिए बधाई और शुभकामनाएॅ दी। डां. महंत ने 160 जोडों के वैवाहिक कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए कलेक्टर जेपी पाठक तथा विभागीय अधिकारियों की प्रशंसा की।

READ ALSO-  JanjgirChampa Accident : सड़क पर ट्रेलर में पीछे से टकराई बाइक, बाइक सवार व्यक्ति को आई गंभीर चोट, ट्रेलर ड्राइवर के खिलाफ FIR दर्ज


समारोह की अघ्यक्षता करते हुए पूर्व विधायक राजेश्री महंत राम सुन्दरदास ने कहा कि इस प्रकार का आयोजन हमेशा समाज और जनहित में होता है। उन्होने कहा कि ऐसे आयोजन से समाज के महत्वपूर्ण लोंगो का आशीर्वाद प्राप्त होता है वही अनावश्यक व्यय से भी छुटकारा मिलता है। उन्होने कहा कि सामुहिक विवाह में आज से गृहस्थ जीवन शुरू करने वाले सभी जोंडे अपने सफल पारिवारिक जीवन के लिए समाज में अपनी पहचान कायम करेंगें। पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष रघुराज प्रसाद पाण्डेय ने कहा कि  मुख्यमंत्री कन्या सामुहिक विवाह एक संवेदनशील योजना है। उन्होंने कहा कि इस योजना से गरीब परिवार के कन्याओं को प्रतिष्ठापूर्ण माहौल में विवाह करने का अवसर मिलता है।  
कलेक्टर जेपी पाठक ने कहा कि आज जिले के विभिन्न ग्रामों के 160 गरीब परिवार कि कन्याओं का वैदिक रीति-रिवाज से विवाह संपन्न हुआ. उन्होने बताया कि शासन कि ओर से प्रत्येक जोंडे के विवाह के लिए 25 – 25 हजार रूपये की सामग्री अतिरिक्त प्रशासनिक विभागीय अधिकारियों द्वारा 80 हजार रूपये तथा राईस मिल एसोसिएसन द्वारा 110 तथा प्रशांत शर्मा की ओर से 50 डिनर सेट प्रदान किया गया। इसी प्रकार लायंस क्लब द्वारा प्रत्येक कन्या के लिए 1-1 साड़ी प्रदान की गई। कलेक्टर ने सामुहिक विवाह के सफल आयोजन के लिए सहयोग करने वालों के लिए आभार जताया। उन्होने आज सपन्न विवाह में सभी जोंडों के गृहस्थ जीवन के लिए अपने मंगलकॉमनाए की। 40 छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं के नोट्स और किताबों का वितरण – समारोह में जिला खनिज न्यास निधि से संचालित प्रतियोगी परिक्षाओं के चार कोंचिंग सेन्टर के 40 छात्र-छात्राओं को विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत के कर कमलों द्वारा प्रतियोगी परीक्षाओं के नोट्स और पुस्तको का निःशुल्क वितरण किया गया. इस अवसर पर नगर पालिका अध्यक्ष भगवान दास गढेवाल, जिला पंचायत के उपाध्यक्ष राघवेन्द्र प्रताप सिंह, पार्षदगण श्रीमती रश्मि गबेल, दिनेश शर्मा, श्रीमती शशिकांता राठौर, इंजी. रवि पाण्डेय, रमेश पैगवार, पुलिस अधीक्षक श्रीमती पारूल माथुर, तथा राजेश, श्रीमती लीना कोसम, महिला एवं बाल विकास जिला कार्यक्रम अधिकारी श्रीमती प्रीति खोखर चखियार सहित अन्य विभागीय अधिकारी एवं गणमान्य नागरिक, पत्रकार एवं बडी संख्या में वर – वधुओं के परिजन उपस्थित थे।

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!