Press "Enter" to skip to content

बलौदाबाजार जिले की खबर : छेरकाडीह गांव में तीहरे हत्याकांड का 12 घंटे में खुलासा, 3 आरोपी पहुंचे सलाखों के पीछे, वारदात की ये थी वजह… पढ़िए

बलौदाबाजार. प्रार्थी जितेन्द्र कुमार साहू पिता दानसाय साहू उम्र 40 वर्ष निवासी ग्राम छेरकाडीह (स) ने थाना पलारी आकर रिपोर्ट दर्ज कराई कि 11 एवं 12 अप्रेल की दरमियानी रात में बड़ा भाई यशवंत साहू, भतीजा देवेन्द्र साहू भाभी महेश्वरी साहू का किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा धारदार हथियार से प्राणघातक हमला कर हत्या कर दी गई है. रिपोर्ट पर थाना पलारी में अपराध क्रमांक 148/2020 धारा 302 भादवि पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है। घटना को अत्यंत गंभीरता से लेते हुए पुलिस महानिरीक्षक रायपुर रेंज रायपुर आनंद छाबड़ा ने पुलिस अधीक्षक प्रशांत कुमार ठाकुर को प्रकरण में त्वरित कार्यवाही कर आरोपियों की धरपकड़ करने हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। पुलिस अधीक्षक प्रशांत कुमार ठाकुर ने तत्काल अति. पुलिस अधीक्षक श्रीमति निवेदिता पाल के नेतृत्व में अनुविभागीय अधिकारी पुलिस बलौदाबाजार सुभाष दास, उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय सिद्धार्थ बघेल, प्रशिक्षु उप पुलिस अधीक्षक प्रशि. तारेश साहू का अलग अलग टीम गठित कर जांच हेतु रवाना किया गया।

विवेचना के दौरान पुलिस को ज्ञात हुआ कि ग्राम जारा के रविशंकर शुक्ला पिता कन्हैया प्रसाद शुक्ला का पूजा-पाठ के काम से पूर्व से ही ग्राम छेरकाडीह (स) में मृतक यशवंत साहू के यहां आना-जाना लगा रहता था। इस बीच आरोपी रविशंकर शुक्ला एवं मृतिका महेश्वरी साहू के मध्य गहरी मित्रता हो गई, जिसका फायदा उठाकर आरेापी रविशंकर शुक्ला ने मृतिका के साथ संबंध स्थापित कर लिया तथा मृतिका को इस बात पर ब्लैकमेल कर प्रताडि़त करने लगा। परेशान होकर मृतिका ने अपने पति मृतक यशवंत साहू को यह बात बताई थी, जिसके बाद परिजनों एवं ग्राम जारा के सरपंच की उपस्थिति में सामाजिक स्तर पर बैठक कर आरोपी रविशंकर शुक्ला को समझाईश दिया गया, कि आरोपी, मृतिका महिला से किसी भी प्रकार का संबंध नही रखेगा। बैठक के बाद भी आरोपी रविशंकर शुक्ला, मृतिका से बातचीत करने एवं मिलने आदि के लिये बार-बार दबाव बना रहा था, परंतु मृतिका महेश्वरी साहू द्वारा उसे बार-बार मना किया जा रहा था। आरोपी रविशंकर शुक्ला, मृतिका महेश्वरी साहू के इस व्यवहार से अत्यंत क्षुब्ध एवं आक्रोशित हो गया था। वह मन ही मन बदला लेने की योजना बनाई और इस योजना में ग्राम गातापार के दुर्गेश वर्मा और नेमीचंद ध्रुव को भी शामिल किया।
आरोपीगण, योजना के अनुसार 11 अप्रेल को लगभग रात्रि 11.30 बजे मोसा CG 22AC 7453 से ग्राम छेरकाडीह (स) पहुंचे। आरोपीगण हत्या करने की नीयत से एक राय होकर मृतक के घर में घुसे। सबसे पहले यशवंत साहू एवं देवेन्द्र साहू के उपर वार कर उनकी हत्या कर दिया गया। दोनों की चीख-पुकार सुनकर महेश्वरी साहू अपने कमरे से बाहर निकली तो आरोपियों ने उसे भी परछी में ही तब्बल से वार कर हत्या कर दिये। घटना को अंजाम देने के पश्चात तीनों आरोपी रात्रि में ही ग्राम छेरकाडीह से फरार हो गये। पुलिस द्वारा कड़ी दर कड़ी जोड़ते हुये मुख्य आरोपी रविशंकर शुक्ला को पकड़ा गया। इस हत्यांकांड में मुख्य आरोपी रविशंकर शुक्ला केे सांथ दुर्गेश वर्मा तथा नेमीचंद ध्रुव ने सहयोग देना स्वीकार किया है तथा आरोपीयों से अपराध में प्रयुक्त तब्बल, खून लगे वस्त्र, मोसा CG 22AC 7453 सीजी आदि आलाजरब वजह सबूत के जप्त किया गया है। प्रकरण में आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर न्यायालय पेश किया गया है।
इस तिहरे अंधेकत्ल के प्रकरण को सुलझाने में थाना प्रभारी पलारी निरीक्षक प्रमोद कुमार सिंह, थाना प्रभारी गिधौरी ओम प्रकाश त्रिपाठी, थाना प्रभारी सुहेला रोशन सिंह राजपूत, उप निरीक्षक चितराम ठाकुर, सउनि नेतराम वर्मा, जगसिंह ठाकुर, एवं थाना पलारी के समस्त स्टाफ का सराहनीय योगदान रहा। पुलिस महानिरीक्षक रायपुर रेंज रायपुर आनंद छाबड़ा ने भी विवेचना में लगी टीम के कार्य की सराहना की है।
▪️मृतकों के नाम – 
01. यशवंत साहू पिता दानसाय साहू उम्र 47 वर्ष निवासी ग्राम छेरकाडीह (स)
02. महेश्वरी साहू पति यशवंत साहू उम्र 45 वर्ष ग्राम छेरकाडीह (स)
03 देवेन्द्र साहू पिता यशवंत साहू उम्र 17 वर्ष निवासी ग्राम छेरकाडीह (स)
▪️आरोपियों के नाम –
01. रविशंकर शुक्ला पिता कन्हैया प्रसाद शुक्ला उम्र 32 वर्ष निवासी ग्राम जारा
02. दुर्गेश वर्मा पिता समारू वर्मा उम्र 22 वर्ष ग्राम गातापार
03. नेमीचंद ध्रुव उर्फ चोटी पिता गणेशू ध्रुव उम्र 20 वर्ष ग्राम गातापार
[su_heading]इस खबर को भी देखिए…[/su_heading]
[su_youtube url=”https://youtu.be/Mc74TZ9O6GU”]

READ ALSO-  छत्तीसगढ़ में अब तक 84.73 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी, किसानों को 15,407.20 करोड़ रुपए का हुआ भुगतान, धान खरीदी में जांजगीर-चाम्पा जिला है अव्वल...