Press "Enter" to skip to content

वरिष्ठ अधिकारियों की टीम ने कटघोरा के हालात का लिया जायजा, संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों की रि-सैंपलिंग के निर्देश, कन्टेनमेंट एवं बफरजोन की देखी व्यवस्था

रायपुर. स्वास्थ्य विभाग के विशेष सचिव डॉ. सी.आर. प्रसन्ना एवं ओएसडी भोस्कर विलास संदीपन ने संयुक्त रूप कटघोरा नगरीय क्षेत्र का दौरा कर वहां कोरोना के संक्रमण के फैलाव को रोकने हेतु किए गए इंतजामों का जायजा लिया। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की टीम भी उनके साथ थी।
विशेष सचिव डॉ. प्रसन्ना ने कटघोरा नगरीय क्षेत्र के हॉट-स्पॉट एरिया में कोरोना के संक्रमण की रोकथाम तथा लॉकडाउन का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने हेतु किए गए सुरक्षा प्रबंध का भी मुआयना किया। इस मौके पर उन्होंने कन्टेनमेंट जोन एवं बफरजोन के लोगों को लॉकडाउन का कड़ाई से पालन करने तथा अपने घरों में ही रहने की समझाईश दी। उन्होंने लोगों से कहा कि कोरोना संक्रमण से बचने का सबसे प्रभावी उपाय यही है कि हम अपने घरों में रहे और सोशल डिस्टेंस बना कर रखे।
ज्ञातव्य है कि कटघोरा कोरोना संक्रमण के मामले को लेकर छत्तीसगढ़ राज्य में हॉट-स्पॉट बन चुका है। कोरोना से संक्रमित यहां अब तक लगभग 24 लोग मिले हैं। संक्रमित इलाके को चिन्हित कर वहां कन्टेनमेंट एवं बफरजोन बनाया गया है। यहां से किसी को बाहर जाने अथवा इसमें किसी भी बाहर के व्यक्ति के आने पर पूर्णतः प्रतिबंध लगाया गया है। विशेष सचिव ने इस इलाके के निरीक्षण के दौरान मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारियों से विशेष निगरानी रखने तथा लॉकडाउन का पालन न करने वालों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए। वरिष्ठ अधिकारियों की टीम ने कटघोरा में लॉकडाउन के दौरान लोगों की गतिविधियों पर ड्रोन कैमरा एवं बाईक पेट्रोलिंग के माध्यम से निगरानी की व्यवस्था का भी अवलोकन किया।
विशेष सचिव ने डॉ. प्रसन्ना ने कोरबा जिले में कोरोना संक्रमण की रोकथाम, बचाव एवं उपचार संबंधी व्यवस्था के बारे में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से जानकारी ली। उन्होंने संक्रमित पाए गए मरीजों के सीधे संपर्क में आए लोगों की 14 दिनों के बाद रि-सैंम्पलिंग सुनिश्चित करने और कोरबा जिले में कोरोना संक्रमण की रोकथाम में जुटे स्वास्थ्य विभाग, पुलिस विभाग एवं अन्य विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के टीम का संक्रमण से बचाव पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए। विशेष सचिव ने कांटेक्ट ट्रेसिंग पर जोर देते हुए कहा कि इसके लिए आसपास के लोगों, पंचायत के पदाधिकारियों से सहयोग लिया जाना चाहिए। उन्होंने आपात स्थिति में क्वॉरंटीन बैकअप प्लान के तहत प्राइवेट अस्पतालों को भी चिन्हित कर वहां आवश्यक इंतजाम सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। विशेष सचिव ने डॉ. प्रसन्ना ने इस दौरान कोरबा में बन रहे कोविड हॉस्पिटल का मुआयना भी किया। उन्होंने अधिकारियों से एम्बुलेंस, कोल्ड चैन, बायोमेडिकल वेस्ट प्रबंधन पर भी विस्तार से चर्चा की और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
[su_heading]इस खबर को भी देखिए…[/su_heading]
[su_youtube url=”https://youtu.be/LmOpGOo4ZfA”]



READ ALSO-  Sakti Judgement : दुष्कर्म के आरोपी को 10 वर्ष का कठोर कारावास, फास्ट ट्रैक कोर्ट सक्ती के विशेष न्यायाधीश का फैसला
Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!