Press "Enter" to skip to content

जिले के श्रमिकों का अन्य राज्यों से आगमन और उनके क्वारंटीन की प्रशासनिक तैयारी, नोडल अधिकारी सौंपे गए दायित्वों का सकारात्मक सोंच, धैर्य और गंभीरता से निर्वहन करें : कलेक्टर, नोडल अधिकारियों को मुख्यालय में रहने और मोबाइल चालू रखने के निर्देश

जांजगीर चांपा. कलेक्टर जेपी पाठक ने जांजगीर-चांपा जिले के अन्य प्रांतों से आने वाले मजदूरों को जिले के रेलवे स्टेशनों से क्वॉरेंटीन सेंटर तक ले जाने, उन्हें 14 दिनों तक क्वॉरेंटीन में रखने, आवास, भोजन, स्वास्थ्य जांच, उनका कोविड-19 संक्रमण रैपिड टेस्ट आदि कार्यों के सामयिक निष्पादन और समन्वय के लिए नियुक्त जिला स्तरीय नोडल अधिकारियों से कहा कि वे अपने कर्तव्यों का पूरी सुरक्षा, धैर्य और सकारात्मक सोंच के साथ निर्वहन सुनिश्चित करें ।
कलेक्टर कार्यालय सभाकक्ष में आज आयोजित तैयारी की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कलेक्टर ने कहा कि सभी अधिकारी मुख्यालय में रहें, और अपना मोबाइल फोन चालू रखें।
कलेक्टर ने कहा कि बाहर प्रांत से आने वाले श्रमिकों को रेलवे स्टेशन से क्वॉरेंटीन सेंटर तक ले जाने आवास, भोजन, चिकित्सा, सहित अन्य व्यवस्थाओं के लिए जिला स्तरीय विभागीय अधिकारियों को नोडल अधिकारी नियुक्त किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी 24 घंटे अपने मोबाइल चालू रखें तथा बिना अनुमति मुख्यालय से बाहर ना जाए।
संक्रमण से स्वयं को सुरक्षित रखते हुए अपने दायित्वों का निर्वहन करें –
कलेक्टर ने सौंपे गए कार्यों का शांत चित्त, और धैर्यता के साथ कोविड-19 के संक्रमण से सुरक्षा के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए दिए गये निर्देश का पालन करने के निर्देश दिए । कलेक्टर ने सभी अधिकारियों से कहा कि वे स्वयं अपने वाहन चालक से मास्क लगाने हैंड वाश, और सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए दायित्वों का निर्वहन सुनिश्चित करने कहा ।
कार्यालय भवन की साफ-सफाई सैनिटाइजेशन के निर्देश
कलेक्टर ने अधिकारियों को अपने कार्यालय भवन की साफ-सफाई, रंगरोगन और भवन का सैनिटाइजेशन करने के बाद निर्देशित संख्या में स्टाफ की उपस्थिति में कार्य संपादन करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के प्रति पूरी सुरक्षा का ध्यान रखते हुए काम करें।
कोविड 19 से सुरक्षा प्रोटोकाल का पालन करते हुए अपने दायित्वों का निर्वहन करें : पुलिस अधीक्षक
पुलिस अधीक्षक श्रीमती पारुल माथुर ने इस अवसर पर कहा कि सभी नोडल अधिकारी कार्यालय में स्वयं तथा अपने मातहतों को कोविड-19 से बचाव के सभी उपाय सुनिश्चित करायें। उन्होंने कार्यालय में सैनिटाइजर, हैंडवाश की व्यवस्था करने को कहा। उन्होंने कार्यालय में बिना मास्क लगाए किसी को प्रवेश नही देने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि रेल्वे स्टेशन और बस स्टैंड में अन्य प्रांतों से श्रमिकों के पहुंचने पर नोडल अधिकारी मौके पर अनिवार्य रूप से उपस्थित रहें । पुलिस अधीक्षक ने कहा कि सभी नोडल अधिकारी और कर्मचारी अपने दायित्वों का पूरी जिम्मेदारी के साथ निर्वहन करें। श्रीमती माथुर ने कहा कि प्रवासी श्रमिक 2 हफ्ते तक क्वॉरेंटाइन में रहेंगे। इस दौरान सतर्कता, संवेदनशीलता के साथ अपने कर्तव्यों का निर्वहन करना होगा।
जिला पंचायत सीईओ तीर्थराज अग्रवाल ने नोडल अधिकारियों से कहा कि प्रवासी श्रमिकों के क्वॉरेंटाइन अवधि में आवास, भोजन, पेयजल आदि के संबंध में सामान्य प्रशासन द्वारा जारी किए गए दिशा निर्देशों का कड़ाई से पालन करना सुनिश्चित करें।
बैठक में अपर कलेक्टर श्रीमती लीना कोसम, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मधुलिका सिंह सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

error: Content is protected !!