Press "Enter" to skip to content

कलेक्टर, जिला सत्र न्यायाधीश एवं एसपी ने जिला जेल का संयुक्त निरीक्षण किया, नए बंदियों को 14 दिन कवारंटीन में रखने, सभी बंदियों के लिए पौष्टिक भोजन, मनोरंजन और स्वच्छता की व्यवस्था करने के निर्देश

जांजगीर-चापा. कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी यशवंत कुमार, जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजेश श्रीवास्तव और एसपी श्रीमती पारुल माथुर ने आज खोखरा जिला जेल का संयुक्त निरीक्षण किया।
कलेक्टर ने कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग की एडवाइजरी का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि नए कैदी/बंदियों को 14 दिनों तक आइसोलेशन वार्ड में रखने के बाद ही बाकी कैदियों के साथ रखा जाए। उन्होंने इस निर्देश का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जेल के स्टाफ को जेल में प्रवेश करने के पहले हाथ धोने और सेनेटाइजर का उपयोग करने जैसे निर्देशों का स्वयं भी पालन करें। कलेक्टर ने ऐसे बंदी जो पढाई के इच्छुक हैं, के लिए शिक्षक की व्यवस्था करने और बंदियों की रुचि के अनुसार कौशल विकास का प्रशिक्षण की व्यवस्था करने के संबंध में जेलर को निर्देशित किया।
जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने जेलर से कहा कि कैदियों व बंदियों के शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखा जाए। कैदियों व बंदियों के स्वास्थ्य पर सतत निगरानी रखी जाए। स्वास्थ्य असामान्य पाए जाने पर स्वास्थ्य विभाग को तत्काल सूचित करें और उनका समुचित इलाज सुनिश्चित किया जाए। उनहोंने कैदियों,बंदियों से चर्चा कर जेल में मिल रही सुविधाओं के बारे में जानकारी ली। निर्धारित प्रक्रिया के तहत परिवार से मिलने, जिला विधिक सेवा से मिल रही सुविधाओं, समय पर चालान पेश करने आदि की कार्रवाई के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने जेल परिसर में मनोरंजन के लिए टीवी चालू रखने, वालीबॉल ग्राउंड को व्यवस्थित कर खेल शुरु करने, नियमित योग, व्यायाम करवाने, पौष्टिक भोजन आदि देने के निर्देश दिए।
एसपी श्रीमती माथुर ने सुरक्षा प्रबंध के मद्देनजर सीसी कैमरे चालू रखने कहा।
निरीक्षण के दौरान आर आई श्रीमती मंजूलता केरकेट्टा, एसडीएम श्रीमती मेनका प्रधान, सहायक जेलर आरके साहू सहित जेल के अन्य कर्मचारी उपस्थित थे।.

READ ALSO-  सक्ती क्षेत्र में खेत और घर के बंटवारे को लेकर दो भाईयों के बीच मारपीट, थाने में मामला दर्ज