Press "Enter" to skip to content

दुष्कर्म के आरोपी पूर्व कलेक्टर को जांच अधिकारी के समक्ष उपस्थित होने नोटिस, पीड़िता से जुड़ी स्व सहायता समूह की महिलाओं का भी पुलिस ने बयान लिया, रिकार्ड भी जब्त किया, चैटिंग वाले मोबाइल को पुलिस ने पीड़िता से मांगा, घर पर नहीं थी तो नोटिस चस्पा

जांजगीर-चाम्पा. महिला से दुष्कर्म के आरोप के मामले में पुलिस द्वारा आरोपी पूर्व कलेक्टर ( आईएएस ) जेपी पाठक को नोटिस जारी किया है और जांच अधिकारी के समक्ष उपस्थित होने कहा गया है, वहीं जिस मोबाइल से चैटिंग हुई है, उस मोबाइल को पीड़िता से मांगा गया है. कल पीड़िता अपने घर पर नहीं थी तो घर में 91 का नोटिस चस्पा किया गया है. जाति प्रमाण पत्र भी प्रस्तुत करने कहा गया है. एफआईआर के वक्त पीड़िता ने मोबाइल के स्क्रीन शॉट थाने में पुलिस को दिया था.
जांच अधिकारी चाम्पा एसडीओपी पद्मश्री तंवर ने बताया कि महिला स्व सहायता समूह के काम से पीड़िता कलेक्टरेट गई थी, इसलिए गांव के समूह की महिलाओं का भी बयान दर्ज किया गया है. कुछ रिकार्ड भी पुलिस ने जब्त किया है.
पुलिस के मुताबिक, मामले में पीड़िता का 164 का बयान कोर्ट में मजिस्ट्रेट के समक्ष हो चुका है और पीड़िता का मेडिकल भी कराया जा चुका है.
4 जून को पुलिस, पीड़िता के साथ घटनास्थल कलेक्टरेट पहुंची थी और सीसी टीवी सिस्टम को पुलिस ने जब्त किया है. कॉल डिटेल की जांच की जा रही है. कलेक्टरेट के कर्मचारियों से भी पूछताछ की गई है.
आपको बता दें, 3 जून की रात पीड़िता महिला की रिपोर्ट पर जांजगीर के सिटी कोतवाली थाने में जिले के पूर्व कलेक्टर ( आईएएस ) जेपी पाठक के खिलाफ रेप का जुर्म दर्ज हुआ था. महिला ने कलेक्टर चैंबर के रेस्ट रूम में दुष्कर्म का आरोप लगाया था और मोबाइल से अश्लील मैसेज, वीडियो समेत साक्ष्य पुलिस को दी थी. एफआईआर के बाद 4 जून को राज्य शासन ने आरोपी आईएएस जेपी पाठक को मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद निलंबित कर दिया था.
मामले में पुलिस द्वारा लगातार जांच की जा रही है और साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं.

READ ALSO-  छत्तीसगढ़ : सदस्यता अभियान को गति देने कांग्रेस ने बनाए डिजिटल प्रभारी, 90 विधानसभा सीटों पर हुई नियुक्ति... जानिए... किन्हें-किन्हें मिली जिम्मेदारी...