Press "Enter" to skip to content

क्वारेंटाइन अवधि पूर्ण होने पर 75 हजार 526 प्रवासी श्रमिक किए गए डिस्चार्ज, स्वास्थ्य सहित विभागीय अधिकारी व कर्मचारी 24 घंटे समर्पण व निष्ठा के साथ क्वारंटीन श्रमिकों की कर रहे हैं देखभाल

जांजगीर-चांपा. जिले में अन्य राज्यों से आए प्रवासी श्रमिकों को कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन करते हुए जिले के विभिन्न केंद्रों में क्वारंटीन किया गया है। अब तक जिले के 903 सेंटरों में क्वारंटीन किए गए 1 लाख 3 हजार 68 में से 75 हजार 526 प्रवासी श्रमिकों को क्वारंटीन अवधि पूरी होने पर डिस्चार्ज किया जा चुका है।
राज्य सरकार द्वारा कोरोना वायरस महामारी के कारण पूरे देश में लागू लॉकडाउन की स्थिति में देश के विभिन्न राज्यों और राज्य के अनेक स्थानों तथा संस्थानों में फंसे श्रमिकों उनके गृहग्राम तक लाने की विशेष व्यवस्था की गयी। हवाई जहाज, श्रमिक स्टेशल ट्रेन, बस आदि से श्रमिकों के वापस लौटने की व्यवस्था की गयी। संक्रमण की रोकथाम के लिए हवाई अड्डा, रेल्वे स्टेशन आदि पर स्वास्थ्य परीक्षण, भोजन, क्वारंटीन सेंटर तक पहुंचाने के लिए बस आदि की समुचित व्यवस्था की गयी। अन्य राज्यों से लौटे श्रमिको को 14 दिनों का क्वारंटीन में रखने की व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा की गयी।
कलेक्टर कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के विभिन्न विकासखंडों में कुल 903 क्वारंटीन सेंटर बनाए गए है। जिसमें एक लाख 3 हजार 68 प्रवासी श्रमिकों को क्वारंटीन किया गया था। क्वारंटीन अवधि पूर्ण होने पर अब तक 75 हज़ार 526 प्रवासी श्रमिकों को डिस्चार्ज किया जा चुका है। वर्तमान में 27 हजार 542 श्रमिक क्वारंटीन रह रहे हैं।
प्राप्त जानकारी के अनुसार, विकासखंड नवागढ़ के 133 क्वारंटीन सेंटर में 10 हजार 616 श्रमिकों को क्वारंटीन किया गया, जिसमें से 8,572 श्रमिक/व्यक्ति डिस्चार्ज किए जा चुके हैं। इसी प्रकार विकासखंड बलौदा के 66 क्वारंटीन सेंटर में 6,962 श्रमिकों को क्वारंटीन किया गया, जिसमें से 4,654 श्रमिक डिस्चार्ज हो चुके हैं। अकलतरा विकासखंड के 82 क्वारंटीन सेंटर में 9,713 श्रमिकों में से 7,111 श्रमिकों को डिस्चार्ज किए जा चुके है।ं बम्हनीडीह के 79 क्वारंटीन सेंटर में 8,229 श्रमिकों में से 5,832 डिस्चार्ज किए गयें हैं। डभरा विकासखंड के 201 क्वारंटीन सेंटर में 9,274 क्वारंटीन किए गए थे जिसमें से 5,707 श्रमिक मुक्त किए जा चुके हैं। पामगढ़ के 100 क्वारंटीन सेंटर में 18543 श्रमिकों/व्यक्तियों को क्वारंटीन किया गया था, जिसमें से 17455 डिस्चार्ज किए गए हैं सक्ती के 64 क्वारंटीन सेंटर में 6,774 श्रमिक/व्यक्तियों को क्वारंटीन किया गया था, 4709 मुक्त किए जा चुके हैं। मालखरौदा के 118 क्वारंटीन सेंटर में 16,194 श्रमिकों को क्वारंटीन किया गया था जिसमें से 6,666 मुक्त किए गए और जैजैपुर विकासखंड के 140 क्वारंटीन सेंटर में 16,763 श्रमिकों में से क्वारंटीन की अवधि पूर्ण होने पर 14,820 श्रमिक मुक्त किए गए। जिले में के विभिन्न विकास खंडों में 27,542 श्रमिक वर्तमान में क्वारंटीन किए गए हैं।
क्वारंटीन सेंटर में भोजन सहित श्रमिको की अन्य आवश्यक जरूरतो को भी पूरा किया गया। गर्भवती श्रमिक महिलाओं, वृद्ध और 10 वर्ष से छोटे बच्चों को विशेष देखरेख के लिए अलग से सूची बद्ध किया गया। इस कार्य में राजस्व, पुलिस, स्वास्थ्य, पंचायत, नगरीय निकाय, स्वच्छता से संबंधित विभाग, शिक्षा तथा अन्य विभाग के अधिकारी व कर्मचारी समर्पण व निष्ठा के साथ काम कर रहे हंै।
[su_heading]इस खबर को भी देखिए…[/su_heading]
[su_youtube url=”https://youtu.be/18fPg7V7owI”]

READ ALSO-  BIG NEWS : जांजगीर. हसौद क्षेत्र में कुएं में गिरने से बुजुर्ग महिला की मौत, मौके पहुंचकर पुलिस ने शुरू की जांच