Press "Enter" to skip to content

बाढ़ से प्रभावित 6,119 लोगों को 57 राहत शिविरों में ठहराया गया, पशुहानि के 181 और मकान क्षति के 9215 प्रकरण दर्ज

जांजगीर-चांपा. कलेक्टर यशवंत कुमार ने बाढ़ व अतिवृष्टि से प्रभावित लोगों को राहत पहुचाने के लिए राजस्व, पुलिस, स्वास्थ्य, पंचायत, वन विभाग के मैदानी अमलों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने आपदा प्रभावित लोगों की हर संभव मदद करने कहा है। फसल क्षति, जनहानि, पशुहानि, मकान क्षति आदि के प्रकरणों मे आबीसी 6-4 के प्रावधानों के तहत मदद की जाएगी।
प्राप्त जानकारी के अनुसार अबतक अकलतरा तहसील में पानी में डुबने से और जैजैपुर तहसील में आकाशीय बिजली से मृत्य के कुल दो प्रकरण दर्ज किये गये हैं। इसी प्रकार बाढ़ एवं अतिवृष्टि से प्रभावित 6,119 लोगो को विभिन्न 57 राहत शिविरों में सुरक्षित ठहराया गया है। शिविरों में भोजन, राशन, पेयजल, चिकित्सा सहित अन्य जरूरी सुविधाएं उपलब्ध करायी गयी है। जिले में अबतक पशुहानि के कुल 181 और मकान क्षति के 9215 प्रकरण दर्ज किए गए है।
पशुहानि – 
तहसील जांजगीर में 32, अकलतरा में 11, जैजैपुर में 51, डभरा में 10, नवागढ़ में 10, बलौदा में -4, शिवरीनारायण में -17, चांपा में- 11, सक्ती में-10, मालखरौदा में 13 और पामगढ़ में -12 प्रकरण अबतक दर्ज किए गए हैं।
मकान क्षति –
तहसील जांजगीर में 585, अकलतरा-644, जैजैपुर-1441, डभरा-870, नवागढ़-668, बलौदा में 381, शिवरीनारायण-439, चांपा-1022, सक्ती-1111, मालखरौदा-1682 और पामगढ़ में 372 प्रकरण अब तक दर्ज किए गए हैं।

READ ALSO-  कोरोना बड़ा अपडेट : छत्तीसगढ़ में आज 4914 नए मरीज मिले, 23 मरीज की हुई मौत, जांजगीर-चाम्पा जिले में मिले इतने मरीज...