Press "Enter" to skip to content

दीपक दुबे के खिलाफ एफआईआर, इंटक का सदस्य ना होकर खुद को प्रदेशाध्यक्ष बताने का आरोप, तफ्तीश में जुटी पुलिस

जांजगीर-चाम्पा. चाम्पा थाने की पुलिस ने शिकायत की जांच के बाद दीपक दुबे के खिलाफ जुर्म दर्ज किया है. दीपक दुबे पर आरोप है कि इंटक का सदस्य ना होते हुए भी खुद को प्रदेशाध्यक्ष बताते थे और लेटरपेड का उपयोग किया जा रहा है.
पुलिस ने जारी प्रेस नोट में बताया है कि राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस इंटक के प्रदेशाध्यक्ष संजय कुमार सिंह ने दीपक दुबे के खिलाफ चाम्पा थाने में शिकायत की थी, जिसके बाद पुलिस ने जांच की और दिल्ली स्थित इंटक के हेड आफिस से भी जानकारी जुटाई.
इसके बाद पुलिस ने दीपक दुबे के खिलाफ आईपीसी की धारा 419, 468, 469 के तहत जुर्म दर्ज किया है और मामले अभी विवेचना की जा रही है.

अभी जानकारी प्राप्त हुई कि इंटक के विवाद पर मेरे नाम से अपराध कायम किया गया हैं जो कि गलत और निराधार है.
राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस इंटक की असली नकली के लड़ाई दिल्ली कोर्ट में लंबित है
श्रम विभाग भारत सरकार ने तीन इंटक को मान्यता दिया है
के के तिवारी संजीवा रेड्डी एवं चंद्रशेखर दुबे को मैं अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष की नियुक्ति पर काम कर रहा हु
जब मामला दिल्ली कोर्ट में लंबित है अभी किसी प्रकार की फैसला नही हुवा है
– दीपक दुबे

READ ALSO-  BIG NEWS : जांजगीर. बलौदा क्षेत्र में युवक की मौत के बाद ग्रामीणों ने किया चक्काजाम, 10 घण्टे से आक्रोशित लोग सड़क पर जमे, प्रशासनिक और पुलिस के अधिकारी मौके पर, चक्काजाम और तनाव जारी...