जांजगीर-चाम्पा

नपं अध्यक्ष ने कलेक्टर के नाम दिया ज्ञापन, शिवरीनारायण मेला के आयोजन को लेकर जताई असमर्थता, मेला आयोजन की सम्पूर्ण जवाबदारी की बात कही थी कलेक्टर ने, पहले जिला प्रशासन के सहयोग से होता आ रहा था शिवरीनारायण मेला

Share on-

जांजगीर-चाम्पा. 27 फरवरी माघी पूर्णिमा से आयोजित होने वाले शिवरीनारायण मेले के आयोजन को लेकर असमंजस की स्थिति बन गई है. कलेक्टर द्वारा मेला आयोजन की सम्पूर्ण जिम्मेदारी की बात कहने के बाद नपं की अध्यक्ष श्रीमती अंजनी मनोज तिवारी ने ज्ञापन सौंपा है और मेला आयोजन को लेकर असमर्थता जताई है.

नपं अध्यक्ष अंजनी मनोज तिवारी द्वारा कलेक्टर के नाम दिए गए ज्ञापन में कहा गया है कि 20 फरवरी को नगर पंचायत शिवरीनारायण के सभाकक्ष में बैठक ली गई थी, जहां कोविड गाईडलाइन का पालन करते मेला आयोजन करने, नपं को लकड़ी, बांस, बल्ली, 2 लाख मास्क, 25 हजार लीटर सेनेटाइजर, ब्लीचिंग पावडर, 10 नग थर्मल गन, 20 सीसी टीवी कैमरा, जान माल की हानि होने पर पार्षदों से चंदा कर 10 से 20 लाख की व्यवस्था करने, कोविड संक्रमित होने पर उसका इलाज के खर्च को निकाय द्वारा वहन करने समेत निर्देश दिए गए थे.

ये भी पढ़ें-  तालाब में मृत मिला मगरमच्छ, ग्रामीणों की सूचना पर वन विभाग की टीम पहुंची मौके पर, पोस्टमार्टम के बाद किया जाएगा अंतिम संस्कार

नपं अध्यक्ष ने कहा है कि शिवरीनारायण के प्राचीन माघी मेले का आयोजन बरसों से जिला प्रशासन के अनेक विभागों के सहयोग से होते आ रहा है. इस वर्ष जिला प्रशासन द्वारा नगर पंचायत पर सम्पूर्ण जिम्मेदारी डाल दी गई है. ज्ञापन में कहा गया है कि मेले की पूरी व्यवस्था के लिहाज से नगर पंचायत की ना तो वित्तीय व्यवस्था है और ना ही कर्मचारी है. ना ही संसाधन है.

ऐसी स्थिति में नगर पंचायत की अध्यक्ष अंजनी मनोज तिवारी ने कलेक्टर के नाम दिए गए ज्ञापन में निकाय द्वारा शिवरीनारायण मेला आयोजन करने को लेकर असमर्थता जताई है. इस तरह दशकों से आयोजित होते आ रहे शिवरीनारायण मेले के आयोजन को लेकर असमंजस की स्थिति बन गई है.

ये भी पढ़ें-  एक मार्च से 60 वर्ष से अधिक आयु के सभी नागरिकों को कोविड वैक्सीन लगाई जाएगी, विशेष बीमारियों वाले 45 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों को चिकित्सक के प्रमाण पत्र के साथ लगेगा टीका, पंजीकरण कोविन 2 एप में और आन साइट भी होगा

Share on-

Advertisment

error: Content is protected !!