Press "Enter" to skip to content

जिले का पहला समूह दिव्या, महिलाएं बना रही हैं ऑफिस फाइलें- सरकारी, निजी ऑफिसों में देंगी समूह की महिलाएं फाइलें, कव्हर फाइल, लिफाफे

जांजगीर-चांपा. किसी कार्य को पूरी सिद्दत से किया जाए तो कहते हैं, कि पूरी कायनात आपके साथ होगी। इसी सिद्दत, लगन और मेहनत के साथ दिव्या स्व सहायता समूह की महिलाएं एकजुट होकर ऑफिस फाइल, लिफाफे, ठोंगा लिफाफा बनाने का काम करना शुरू की है। उनके इस काम में पूरी मदद कर रहा है पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की योजना राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (एनआरएलएम )। जिसके माध्यम वे जांजगीर जिले की पहली ऐसी महिला समूह बन गई जो ऑफिस फाइल बनाने का काम कर रही हैं।
जांजगीर-चांपा जिले की जनपद पंचायत नवागढ़ के ग्राम पंचायत खोखरा के दिव्या महिला स्व सहायता समूह है, जो ऑफिस फाइलें का काम को शुरू किया है। इन्होंने इस कार्य से कुछ ऐसा करने की ठानी जो उन्हें समाज में अलग पहचान प्रदान कर सके। महिला समूह की अध्यक्ष श्रीमती जानकी बताती हैं, कि एकता में ही शक्ति है, और यह तब दिखती है, जब सभी महिलाएं एकजुट होकर कोई काम करती हैं। उनका कहना है कि समूह के गठन के बाद श्रीमती जानकी सहित सुरूचि, चंद्रिका, निर्मला, त्रिवेणी, कुसुम, ममता, सीमा कुमारी, सहोदरी, मीना, सुलेना ने पंचसूत्र का पालन करते हुए काम किया। जानकी बताती हैं कि नियमित बैठक एवं नियमित गतिविधि करने से उनकी मेहनत रंग लाने लगी और उन्हें प्रथम आजीविका अनुदान अंश (चक्रीय निधि) के रूप में 15 हजार रूपए की सहायता राशि दी गई। फरवरी में प्रशिक्षण लेने के उपरांत समूह की महिलाओं ने पेपर बैग, लिफाफा, पोस्ट कार्ड लिफाफा, सरकारी एवं निजी ऑफिस में उपयोग आने वाली बाक्स फाइल, कोबरा फाइल, फाइल कव्हर आदि का निर्माण कार्य भी शुरू कर दिया। इसके अलावा वे पर्यावरण को पॉलीथिन से बचाने के लिए ठांेगा लिफाफा बनाने का काम रही हैं, जिसे वे किराना दुकान, चाय-नाश्ता की दुकान, गुमटियों आदि में देना भी शुरू करेंगी।
O
दो लाख रूपए का लोन मंजूर
एनआरएलएम के माध्यम से दिव्या समूह की नियमित रूप से बचत एवं कार्य को देखकर उन्हें बैंक के माध्यम से लोन के लिए लिंकेज किया गया। लिंकेज होने के उपरांत 2 लाख रूप ऋण की मंजूरी दी गई। ऋण मिलने से समूह की महिलाएं उत्साहित हैं और समूह के कार्य को और तेज गति से करने की तैयारी शुरू कर दी हैं।
समूह की महिलाओं को मिलेगी मदद
जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी तीर्थराज अग्रवाल ने बताया कि दिव्या समूह के द्वारा बनाई जा रही फाइल, फाइल कव्हर, फाइल पेड, बाक्स फाइल, लिफाफे को ऑफिस में मंगाया जाएगा। इसके लिए जो सरकारी दर निर्धारित है, उस पर क्रय किया जाएगा, जिससे उन्हें आर्थिक रूप से मदद मिल सकेगी। जनपद सीईओ मोहनिश देवांगन के द्वारा भी समूह की महिलाओं के कार्य की मानीटरिंग की जा रही है।



READ ALSO-  JanjgirChampa Complain : सरपंच, सचिव, गौठान अध्यक्ष एवं सरपंच पुत्र द्वारा शासकीय भूमि को कब्जा कर बेचने का आरोप, SDM से शिकायत
Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!