Press "Enter" to skip to content

जिले में 1अप्रैल से शुरू होगा पठन कौशल विकास अभियान, जिले की सभी प्राथमिक स्कूल के विद्यार्थी होंगे शामिल

जांजगीर-चांपा. जिले की सभी प्राथमिक स्कूलों में 1 अप्रैल से 30 अप्रैल 2020 तक पठन कौशल अभियान चलाया जाएगा. जिसमें पहली से पांचवी के विद्यार्थी सम्मिलित होंगे. शिक्षा विभाग की राज्य स्तरीय योजना पठन कौशल विकास कार्यक्रम के सफल क्रियान्वयन की आवश्यक तैयारियों के संबंध में सोमवार को जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी तीर्थराज अग्रवाल ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों की बैठक ली।

बैठक में श्री अग्रवाल ने बताया कि जिले में पठन कौशल विकास अभियान कलेक्टर जेपी पाठक के मार्गनिर्देशन में चलाया जा रहा है। जिपं सीईओ श्री अग्रवाल ने कहा कि प्राथमिक स्तर से ही बच्चों के पढ़ने की शिक्षा दी जाए तो वे आगे जाकर बेहतर पुस्तकों का अध्ययापन आसानी से कर सकते हैं। इसलिए स्कूलों के बच्चों में पठन कौशल के विकास के लिए अभियान के तौर चलाया जाएगा। इसके लिए प्राथमिक शाला के लिए उच्च प्राथमिक शाला के शिक्षक को मेंटर के रूप में नियुक्त किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस अभियान के तहत 1 अप्रैल से 17 अप्रैल तक बच्चों को पढ़ने के लिए रोचक कहानियां, कॉमिक्स, उपन्यास आदि दिए जाएंगे, जिससे बच्चों का ज्ञान बढ़ेगा। इस अभियान की सतत मानीटरिंग ब्लाक, जिला एवं राज्य स्तर पर की जाएगी। इसके बाद 18 अप्रैल से 30 अप्रैल के बीच में प्रत्येक प्राथमिक स्कूल के बच्चों के बीच में पठन कौशल प्रतियोगिता होगी। इस प्रतियोगिता के निर्णायक में स्थानीय शिक्षित महिलाएं एवं जनप्रतिनिधि को शामिल किया जा रहा है। प्राथमिक स्कूल में आयोजित पठन कौशल प्रतियोगिता में चयनित बच्चों के लिए संकुल स्तर पर आयोजित प्रतियोगिता में भेजा जाएगा। उसके बाद खंड स्तर फिर जिला स्तर और उसके बाद अंत में राज्य स्तर पर होने वाली प्रतियोगिता में सम्मिलित होने के लिए भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि पठन कौशल से संबंधित सभी गतिविधियों की आनलाइन मानिटरिंग की जाएगी। पठन कौशल के लिए शिक्षकों को उनकी गतिविधियों पर आधारित आधे मिनट का वीडियो वेबसाइट पर अपलोड करना होगा। जिपं सीईओ ने 1 अप्रैल से शुरू होने वाली पठन कौशल अभियान की तैयारियां तेज गति से शुरू करने के निर्देश सभी शिक्षा विभाग के अधिकारियों को दिए। बैठक में डीईओ जांजगीर केएस तोमर, सक्ती डीईओ श्रीमती नीता मुखर्जी, डीएमसी एम.एल. ब्राम्हणी, जिला नोडल अधिकारी डाइट श्री रस्तोगी के अलावा विकासखण्ड कौशल पठन नोडल अधिकारी, समस्त बीआरसी मौजूद रहे।

READ ALSO-  छत्तीसगढ़ : दूल्हे के अरमानों पर फिर गया पानी, बारात निकलने से पहले ही उठा ले गई पुलिस, जानिए क्या है...पूरा मामला
error: Content is protected !!