Press "Enter" to skip to content

स्कूल अवकाश अवधि : 40 दिन का सूखा दाल एवं चावल मिलेगा 3 और 4 अप्रैल को, खाद्यान्न वितरण पूर्व मुनादी कराने और स्कूल में भीड़ इकट्ठा ना करने के निर्देश

रायपुर. नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण की रोकथाम के उद्देश्य से राज्य शासन ने सभी स्कूल लॉक-डाउन की स्थिति में 14 अप्रैल 2020 तक बंद कर दिए हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर अवकाश अवधि में स्कूली बच्चों को मध्यान्ह भोजन दिए जाने का निर्णय लिया गया है। यह मध्यान्ह भोजन मार्च एवं अप्रैल 2020 के लिए 40 दिन का सूखा दाल और चावल बच्चों के पालकों को स्कूल से प्रदाय किया जाएगा। प्राथमिक शाला के प्रत्येक बच्चे को 4 किलोग्राम चावल और 800 ग्राम दाल तथा उच्चतर माध्यमिक शाला के प्रत्येक बच्चे को 6 किलोग्राम चावल और 1200 ग्राम दाल प्रदाय किया जाएगा। संचालक लोक शिक्षण संचालनलाय जितेन्द्र शुक्ला द्वारा इस संबंध में सभी जिला कलेक्टरों और जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित किया है कि खाद्यान्न सामग्री के वितरण के लिए 3 और 4 अप्रैल की तिथि निर्धारित की गई है। निर्धारित तिथि के पूर्व ग्राम में मुनादी के द्वारा पालकों को इससे अवगत कराने के निर्देश दिए गए है। निर्धारित तिथि को स्कूल के सामान्य समय में खाना बनाने वाली एजेंसी के प्रतिनिधि के समक्ष शाला प्रमुख द्वारा निर्धारित मात्र अनुसार खाद्यान्न का वितरण बच्चों के पालकों को किया जाए। वितरण के समय बच्चों के पालकों से बच्चों की उपस्थिती पंजी के मार्च माह के पृष्ट में ही बच्चों के नाम के सम्मुख हस्ताक्षर लेते हुए चावल और दाल कि मात्रा का उल्लेख किया जाए। निर्देश में यह भी कहा गया है कि वितरण के दौरान इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि शाला में भीड़ इकट्ठी न हो। इसके लिए सुविधानुसार अलग-अलग कक्षा के लिए अलग-अलग समय निर्धारित किया जाए।
[su_heading]इस खबर को भी देखिए…[/su_heading]
[su_youtube url=”https://youtu.be/5h4H2h4LXhs” title=”इस खबर को भी देखिए…”]
READ ALSO-  सीएम भूपेश बघेल ने जगदलपुर के लालबाग मैदान में फहराया तिरंगा, प्रदेशवासियों को दी बधाई और शुभकामनाएं