Press "Enter" to skip to content

कोटा में फंसे जिले के विद्यार्थियों को वापस लाने की जा रही पहल, कलेक्टर ने कोर कमेटी की बैठक में आवश्यक तैयारी के दिए निर्देश

जांजगीर-चांपा. कलेक्टर जेपी पाठक ने आज जिला कार्यालय में आयोजित कोविड-19, के नियंत्रण के लिए गठित जिला स्तरीय कोर कमेटी की बैठक में कहा कि राजस्थान  के कोटा में फंसे जिले के विद्यार्थियों को लाने के लिए प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजा जा रहा है। राज्य सरकार के मार्गदर्शन प्राप्त होते ही छात्रों को वापस लाने की कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने संयुक्त कलेक्टर सचिन भूतड़ा को वाहनों की व्यवस्था करने,  विद्यार्थियों की सूची सहित अन्य तैयारी करने, रूट चार्ट बनाने आदि व्यवस्था के लिए निर्देश दिए।
कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ बंजारे से कहा कि स्वास्थ्य विभाग की एडवाइजरी का कड़ाई से पालन करवाएं और सेंपलिंग की कार्रवाई में भी तेजी लाएं। कलेक्टर ने कहा कि लाकडाउन के दौरान ड्यूटी कर रहे विभिन्न विभागों के मैदानी कर्मचारियों के स्वास्थ्य सुरक्षा का भी विशेष रूप से ध्यान रखा जाए। उन्होंने  कहा कि स्वास्थ्य  एवं सुरक्षा संबंधी निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाए। पुलिस अधीक्षक श्रीमती पारुल माथुर ने जिले में कानून व्यवस्था से अवगत कराया। अपर कलेक्टर श्रीमती लीना कोसम ने राहत शिविरों के संबंध में जानकारी दी। सयुंक्त कलेक्टर सचिन भूतड़ा ने जिले से बाहर जाने के लिए प्राप्त आवेदनों के बारे में बताया और विभिन्न प्रकृति के आवेदनों के संबंध में अनुमति देने के संबंध में कलेक्टर जेपी पाठक से मार्गदर्शन प्राप्त किया। सीएमएचओ डाॅ एसआर बंजारे ने कोरोना वायरस के रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग की गतिविधियों की जानकारी दी। बैठक में कोर कमेटी के सदस्य उपस्थित थे।

READ ALSO-  छत्तीसगढ़: भाजपा को मिला नया नेता प्रतिपक्ष, वरिष्ठ विधायक नारायण चंदेल के नाम पर लगी मुहर
error: Content is protected !!