Press "Enter" to skip to content

जबलपुर, बिलासपुर से पैदल पहुंचे मजदूर, जिला प्रशासन द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण और भोजन कराने के बाद गृह ग्राम पहुंचाया गया

जांजगीर-चांपा. कलेक्टर जेपी पाठक के मार्गनिर्देशन में लाकडाउन में फंसे श्रमिकों की हरसंभव मदद की जा रही है।  शनिवार 25 अप्रैल को जबलपुर से 8 मजदूर पैदल जांजगीर जिला  पहुंचे थे। उन्हें खोखरा के पास नेशनल हाई-वे पर रोककर उनका स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया।  सभी को भोजन उपलब्ध कराया गया इसके पश्चात उन्हें वाहन की व्यवस्था कर उनके गृह ग्राम बड़े रवेली व मालखरौदा पहुंचाया गया। इसी प्रकार बिलासपुर से 7 मजदूर तीन बच्चों के साथ पैदल आ रहे थे। सूचना मिलते ही उन्हें अर्जुनी-अकलतरा के पास रोका गया।  उनका स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें भोजन कराया गया। वाहन व्यवस्था कर उनके गृह ग्राम उदयबंद, सुकली, महंत बुड़ेन और चोरिया पहुंचाने की व्यवस्था की गई। इसी प्रकार रायगढ़, जशपुर,कांकेर ( भानुप्रतापुर) सहित विभिन्न जिले के लोग जो लाकडाउन के कारण जांजगीर चांपा जिले के विभिन्न राहत शिविरों में रूके हुए थे उनका भी स्वास्थ्य परीक्षण कर वाहन से  उनके गृह ग्राम भेजने कार्रवाई की गई।
कलेक्टर कार्यालय जांजगीर स्थित जिला स्तरीय कंट्रोल रूम से प्राप्त सूचना अनुसार, तहसीलदार अकलतरा द्वारा बनारी से खोखरा हाईवे पर जबलपुर से पैदल निकले 8 मजदूर जो बड़े रबेली मालखरौदा के रहने वाले है, उन्हे उनके निवास स्थान भेजा गया।
इसी प्रकार नियंत्रण कक्ष से सूचना के आधार पर अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) जांजगीर के मार्गदर्शन में 9 मजदूर और तीन बच्चों सहित कुल 12 लोग जो बिलासपुर से पैदल आ रहे थे उन्हें अकलतरा तहसील के ग्राम अर्जुनी पास रोका गया और इन सभी का स्वास्थ्य परीक्षण कराने जिला अस्पताल भेजा गया।



READ ALSO-  JanjgirNews : बलौदा में दशहरा के दौरान अभिव्यक्ति ऐप सेल्फी जोन बना आकर्षण का केंद्र, थाना प्रभारी गोपाल सतपथी की खास पहल
Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!