Press "Enter" to skip to content

कांकेर, कोंडागांव के 23 बच्चों को रायपुर कैंप के लिए किया गया रवाना, लाकडाऊन में 25 प्रभावितों को रायपुर से जांजगीर लाने की की गई व्यवस्था

जांजगीर-चांपा. कलेक्टर जेपी पाठक के निर्देश पर कोविड-19 लाक डाऊन में जिले में और जिले के बाहर फंसे लोगों को फौरी राहत पहुंचाने युद्धस्तर पर कार्रवाई की जा रही है। जिले के सभी प्रशासनिक और विभागीय अधिकारी इस काम में 24 घंटे जुटे हुए हैं।
इस क्रम में आज रायपुर मे फंसे हुए जांजगीर-चांपा जिले के 8 बिलासपुर के 6 रायगढ़ के 11 मजदूरो को लाने हेतु बस रायपुर भेजा गया है । कांकेर के 18 लड़के और लड़कियां जो कि खोखरा जांजगीर निवास कर रहीं थीं , उन्हे एसडीएम जांजगीर के मार्गदर्शन में लाकडाउन के दौरान से ही राशन दिया जा रहा था ।
इन लोगों द्वारा अपने निवास स्थान जाने कि इच्छा व्यक्त की गई। इस पर त्वरित कार्रवाई की गई और उन्हे भोजन कराकर , वाहनों की ब्यवस्था कर गंतव्य के लिए रवाना किया गया।सभी ने लाक डाऊन में जिला प्रशासन द्वारा उनके लिए की गई आवास, भोजन चिकित्सा और मनोरंजन की ब्यवस्था और आत्मीय ब्यवहार जिला प्रशासन और अधिकारियों तथा कर्मचारियों के प्रति धन्यवाद और आभार जताया गया।
तहसील जांजगीर द्वारा कांकेर, कोंडागांव के 23 बच्चों को बस की व्यवस्था कर खाना खिलाकर रायपुर कैम्प के लिये रवाना किया गया। एस डी एम जांजगीर ने दो पटवारियों को वाहन में ड्यूटी लगाई और उन्हें वाहन प्रभारी के रूप में जिम्मेदारी दी गयी है। साथ ही रायपुर से कुल 25 व्यक्तियों उसी बस में लाने की व्यवस्था की गयी है।

READ ALSO-  छत्तीसगढ़ : दूल्हे के अरमानों पर फिर गया पानी, बारात निकलने से पहले ही उठा ले गई पुलिस, जानिए क्या है...पूरा मामला
error: Content is protected !!