Press "Enter" to skip to content

फोन से संपर्क करते ही हुई भोजन की व्यवस्था, महाराष्ट्र के कोल्हापुर में फंसे जिले के मजदूरों ने जिला प्रशासन का माना आभार

जांजगीर-चांपा. कोविड-19 के संक्रमण को रोकने लागू लाकडाउन के कारण जांजगीर-चाम्पा जिले के मजदूरों ने महाराष्ट्र के कोल्हापुर में फंसे होने और भोजन की समस्या बताते हुए जिला स्तरीय नियंत्रण, जांजगीर को फोन से सूचित किया. जानकारी मिलते जिला प्रशासन द्वारा तत्काल कोल्हापुर स्थानीय प्रशासन से संपर्क कर 5 परिवारों के 17 सदस्यों के लिए राशन की व्यवस्था कराई गई.



भोजन की ब्यवस्था के लिए त्वरित कार्रवाई की प्रशंसा करते हुए मजदूरों ने जांजगीर-चांपा जिला प्रशासन के प्रति अपना आभार जताया. कोल्हापुर में लाकडाउन में संकटापन्न स्थिति में रह रहे जांजगीर चांपा जिले के नवागढ़ विकासखंड के ग्राम पोड़ी के रहने वाले राजेश्वर कुमार ने बताया कि उनके साथ नवागढ़ विकासखंड के ग्राम पोंड़ी के धनाराम, राजू कश्यप सहित 17 लोग राज मिस्त्री और मजदूरी के काम से कोल्हापुर गए थे. उन्होंने बताया कि लाकडाउन के कारण करीब 25 दिनों से उनका काम बंद हो गया है. कुछ दिनों तक बचत के पैसों से अपना गुजर -बसर किया. इसके बाद पैसों की कमी से उनके सामने भोजन की समस्या आने लगी. राजेश्वर ने जिला प्रशासन द्वारा स्थापित जिला स्तरीय कोविड-19 नियंत्रण कक्ष से संपर्क किया और अपनी समस्या से अवगत कराया‌। जिला प्रशासन ने सूचना मिलते ही कोल्हापुर तहसीलदार से संपर्क कर इन मज़दूरों के लिए भोजन की व्यवस्था का अनुरोध किया।
इसके बाद स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों द्वारा उन्हें 5 किलो आटा 5 किलो चावल 1 किलो तेल दाल नमक आदि उपलब्ध कराई गई।

READ ALSO-  छत्तीसगढ़ : दूल्हे के अरमानों पर फिर गया पानी, बारात निकलने से पहले ही उठा ले गई पुलिस, जानिए क्या है...पूरा मामला
error: Content is protected !!