Press "Enter" to skip to content

जिले में करीब 30 हजार लोगों के अन्य राज्य से आने की संभावना, मजदूरों को क्वारंटीन करने भवनों के चयन की कार्यवाही पूरी, क्वारेंटीन सेंटर के लिए चयनित भवनों में आवश्यक सुविधाएं मुहैया कराने के निर्देश, कलेक्टर ने ली प्रशासनिक, विभागीय अधिकारियों और मैदानी अमलों की बैठक

जांजगीर चांपा. कलेक्टर जेपी पाठक ने कहा कि लाकडाउन के कारण अन्य राज्यों में फंसे जिले के करीब 30 हजार श्रमिक और अन्य लोग की जांजगीर-चांपा जिला वापस आने की सूचना प्राप्त हुई है। कोविड-19 की रोकथाम के लिए जारी प्रोटोकॉल के अनुसार अन्य राज्यों से आए लोगों को 14 दिन का क्वारेनंटाइन में रखा जाएगा। उन्होंने इसके लिए सभी एसडीएम, नगरी निकाय के सीएमओ और जनपदों के सीईओ को क्वारेंटाईन सेंटर के लिए चयनित भवनों में आवश्यक सुविधा उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए।
[su_heading]इस खबर को भी देखिए…[/su_heading]
[su_youtube url=”https://youtu.be/kOwATgzxFG8″]
कलेक्टर ने कहा कि स्थान चयन करते समय इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि क्वारंटीन सेंटर यथासंभव आबादी से दूर हो। साथ ही क्वारेंटाईन सेंटर की बिल्डिंग में जरूरी सुविधाएं पेयजल, बिजली आदि उपलब्ध रहे। उन्होंने कहा कि स्वच्छता के लिए वहां स्वच्छता कर्मियों की ड्यूटी लगाई जाए। उन्होंने कहा कि क्वारेंटाईन सेंटर में रहने वाले लोगों की निगरानी के लिए वालेंटियर्स को जवाबदारी दी जाए। क्वारंटीन में रहने वाले सभी लोगो के लिए नगरीय निकाय में नगरीय प्रशासन और ग्रामीण क्षेत्रों में संबंधित ग्राम पंचायत द्वारा भोजन व राशन पेयजल की व्यवस्था की जाएगी। इस संबंध में जिला प्रशासन द्वारा आदेश जारी किया जा रहा है।
कलेक्टर ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा अन्य राज्यों से आने वाले सभी लोगों का प्रथमिक स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा। इसके अलावा क्वारेंटीन के दौरान भी आवश्यकता पड़ने पर उपचार एवं परामर्श के लिए चिकित्सक उपलब्ध रहेंगे। इसके लिए सेंटरवार चिकित्सको को जिम्मेदारी दी जा रही है। विद्युत विभाग के अधिकारियो से कहा कि चिन्हांकित किए गए क्वारेंटाईन सेंटर में प्रकाश की समुचित व्यवस्था हो। विभागीय समन्वय के लिए नोडल अधिकारी भी नियुक्त किया जा रहा है।
बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन से क्वॉरेंटीन सेंटर तक पहुंचाने की पूर्व निर्धारित कार्यक्रम तय हो, सूक्ष्म कार्ययोजना तैयार कर उसका क्रियान्वयन सुनिश्चित करें : पुलिस अधीक्षक
बैठक को संबोधित करते हुए पुलिस अधीक्षक श्रीमती पारुल माथुर ने कहा कि अन्य प्रांतों से बस, ट्रेन और पैदल आने वाले मजदूरों की स्पष्ट जानकारी प्रभारी अधिकारी के पास होनी चाहिए। विकासखंड, ग्रामवार मजदूरों की सूची, बस नंबर, कितनी संख्या में बैठकर गंतव्य तक जाना है, उनकी पहले से सूची तैयार करने ट्रेन, बस, पैदल तीनों एंट्री पाईंट में खंडवार नियुक्त प्रभारी अधिकारी पूर्व से उपस्थित रहे। उन्होंने प्रत्येक क्वारंटीन सेंटर मे मेडिकल टीम की व्यवस्था सुनिश्चित करने कहा। पुलिस अधीक्षक ने कवारेंटीन सेंटर में सुरक्षा की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित करने और सर्पदंश आदि किसी भी प्रकार की दुर्घटना के प्रति सचेत और सावधान रहने और चैकसी के लिए वालियंटयर्स की डियूटी लगाने की आवश्यकता बताई।
बैठक में जिला पंचायत सीईओ तीर्थराज अग्रवाल, अपर कलेक्टर श्रीमती लीना कोसम, एएसपी श्रीमती मधुलिका सिंह, सभी एसडीएम, जनपद सीईओ, बीएमओ सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

error: Content is protected !!