Press "Enter" to skip to content

लॉकडाउन में पुरूषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कर रहीं महिलाएं मनरेगा में कार्य, जिले में 98 हजार 965 महिलाओं ने 6 लाख 76 हजार मानव दिवस सृजित किए, जिले में 1 लाख 55 हजार मजदूर को मिल रहा काम

जांजगीर-चांपा. कोरोना महामारी के इस प्रकोप के बीच लगाए गए लॉकडाउन में महात्मा गांधी नरेगा के कार्यों में महिलाओं की भागीदारी पुरूषों के समान ही बनी हुई है। जिले में मनरेगा के तहत 98 हजार 965 महिलाएं गांव के विकास के लिए पुरूषों की तरह ही कंधे से कंधा मिलाकर काम करते हुए परिसंपत्तियों का निर्माण कर रही हैं। वित्तीय वर्ष 2020-21 में 1 अप्रैल से 14 मई 2020 तक 98 हजार 965 महिलाओं ने 6 लाख 76 हजार एवं 99 हजार 832 पुरूषों ने 6 लाख 84 हजार के करीब मानव दिवस सृजित किए।
जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री तीर्थराज अग्रवाल ने बताया कि कोरोना वायरस के दौरान महात्मा गांधी नरेगा से मजदूरी मूलक एवं आजीविका संवर्धन के कार्यों को शुरू किया गया। गुरूवार को जिले की 657 ग्राम पंचायतों में से 557 ग्राम पंचायतों में काम चल रहा है। इन ग्राम पंचायतों में 11 हजार 79 कार्यों में 1 लाख 55 हजार650 मजदूरों को रोजगार मिल रहा है। महात्मा गांधी नरेगा में महिलाओं की भूमिका प्रमुख है। कार्यस्थल पर पुरूषों के मुकाबले महिलाएं बराबर कार्य कर रही है। उनकी भागीदारी से ग्राम पंचायतों में बन रही परिसंपत्तियों को बल मिल रहा है। महिलाओं की भागीदारी से ही गांव का विकास तेज गति से संभव हुआ है। वर्तमान कोरोना वायरस के दौरान शासन के निर्देशों का पालन भी कार्यस्थल पर किया जा रहा है। मजदूरों को मास्क लगाकर आने, हेंडवाश से हाथ धोने एवं शारीरिक दूरी बनाकर कार्य करने लगातार कहा जा रहा है।
गांव में मिल रहा रोजगार
जिले में 1 लाख 55 हजार 650 मजदूर कार्य कर रहे है। जनपद पंचायत की 657 ग्राम पंचायत में से 557 ग्राम पंचायत मजदूरी मूलक कार्यों में तालाब गहरीकरण, नया तालाब, डबरी निर्माण, जल संरक्षण एवं संचय के कार्यों में मनरेगा के मजदूर कार्यरत हैं। इनमें जैजैपुर में 136 कार्यों में 22 हजार 469 मजदूर, डभरा में 111 कार्यों में 20 हजार 804 मजदूर,
नवागढ़ जनपद पंचायत में 122 कार्यों में 19 हजार 982 मजदूर काम कर रहे है। मालखरौदा में 186 कार्यों में 18 हजार 650 मजदूर, अकलतरा में 146 कार्यों में 17 हजार 986 मजदूर, सक्ती में 158 कार्यों में 16 हजार 43 मजदूर, बलौदा में 120 कार्यों में 15 हजार 75 मजदूर, पामगढ़ में 99 कार्यों में 14 हजार 036 मजदूर, एवं बम्हनीडीह में 101 कार्यों में 10 हजार 569 मजदूरों को रोजगार मिल रहा है।

READ ALSO-  छत्तीसगढ़ : दूल्हे के अरमानों पर फिर गया पानी, बारात निकलने से पहले ही उठा ले गई पुलिस, जानिए क्या है...पूरा मामला
error: Content is protected !!