Press "Enter" to skip to content

किसानों के फर्जी हस्ताक्षर कर हड़पी राशि, कैशियर समेत 3 लोगों के खिलाफ हुई एफआईआर, तफ्तीश में जुटी पुलिस

जांजगीर-चाम्पा. किसानों का फर्जी हस्ताक्षर कर राशि हड़पने के मामले में पुलिस ने बैंक के कैशियर समेत 3 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. आरोपियों की अभी गिरफ्तारी नहीं हुई है. मामले में पुलिस की तफ्तीश जारी है. मामला पंतोरा का है.
पंतोरा के छग राज्य ग्रामीण बैंक में वर्ष 2015-16 में किसान क्रेडिट कार्ड धारक किसानों के फर्जी हस्ताक्षर से राशि आहरण की शिकायत किसानों से मिली थी. गांव में हरीश और प्रशांत नाम के 2 शख्स द्वारा मुद्रा लोन दिलाने की बात कहते हुए किसानों से कोरे फार्म में हस्ताक्षर ले लिए थे. इसके बाद कैशियर द्वारा हस्ताक्षर का गलत उपयोग कर किसानों के खाते से राशि आहरण करने की शिकायत मिली.
शिकायत के बाद 2017 में कैशियर निलंबित कर दिया गया था और मामले की जांच जारी थी. जांच में डेढ़ दर्जन से अधिक किसानों के फर्जी हस्ताक्षर से राशि आहरण करने की शिकायत सही पाई गई.
बैंक के शाखा प्रबंधक नारायण पाटले की रिपोर्ट पर पंतोरा उपथाना में आरोपी कैशियर ऐश्वर्य कुमार, हरीश, और प्रशांत के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 467, 468, 471, 34 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है.

पंतोरा उपथाना के प्रभारी मोहम्मद तारिक ने बताया कि अभी तक की जांच में किसानों के फर्जी हस्ताक्षर से 47 हजार की राशि आहरित कर गड़बड़ी करने की बात सामने आई है. मामले में अभी भी जांच जारी है.

READ ALSO-  घिवरा में सरपंच दुलौरिन बाई भारद्वाज ने किया ध्वजरोहण