Press "Enter" to skip to content

अब लोग ‘धान वाले बाबा’ के नाम से जानेंगे छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री को, खाद्य मंत्री अमरजीत भगत का बड़ा बयान… और क्या कुछ कहा… पढ़िए…

रायपुर. छत्तीसगढ़ में 1 दिसंबर से समर्थन मूल्य धान खरीदी की शुरुआत होगी, लेकिन इससे पहले प्रदेश में धान खरीदी के मुद्दे को लेकर जमकर सियासत हो रही है। इसी कड़ी में एक बार फिर छत्तीसगढ़ के खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने सेंट्रल पूल से 23 लाख मीट्रिक टन उसना चावल की खरीदी किए जाने की मांग की है। इस संबंध में चर्चा के लिए उन्होंने केंद्रीय खाद्य मंत्री पीयूष गोयल से मुलाकात का समय मांगा है।
इस दौरान उन्होंने आगामी दिनों में होने वाले धान खरीदी को लेकर कहा कि धान खरीदी को लेकर पूरे देश में छत्तीसगढ़ का नाम है। केंद्र सरकार के असहयोग के बावजूद रिकॉर्ड खरीदी हो रही है और इस साल भी 105 लाख मीट्रिक टन रिकॉर्ड धान खरीदी होगी। अब लोग छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री को ‘धान वाले बाबा’ के नाम से जानेंगे, वहीं केंद्र सरकार के साथ बात ना बनने पर अमरजीत भगत ने कहा कि हिंदुस्तान-पाकिस्तान के बीच पटती नहीं है, लेकिन वार्ता होती रहती है।

READ ALSO-  जांजगीर. धान खरीदी की तिथि निर्धारित समय से कम से कम 15 दिन और बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बधेल से प्रदेश कांग्रेस के सचिव इंजी. रवि पाण्डेय ने पत्र लिखकर आग्रह किया