Press "Enter" to skip to content

जोहानिसबर्ग में विराट कोहली किन खिलाड़ियों के साथ उतरेंगे ? … जानिए…

साल 2022 में  भारतीय क्रिकेट टीम अपना पहला इंटरनेशनल मुकाबला साउथ अफ्रीका के खिलाफ जोहानिसबर्ग में खेलेगी. 3 जनवरी से तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा मुकाबला शुरू होने जा रहा है. इससे पहले सेंचुरियन में भारत और साउथ अफ्रीका (IND vs SA) के बीच पहला टेस्ट खेला गया था. जहां टीम इंडिया ने मेजबान टीम को 113 रन से मात दी. टेस्ट सीरीज में भारत 1-0 से आगे है. भारतीय टीम को साउथ अफ्रीका में पहली बार टेस्ट सीरीज जीतने के लिए बस एक जीत की दरकार है.

बता दें कि सेंचुरियन टेस्ट में टीम इंडिया के खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया. केएल राहुल के बल्ले से शतक देखने को मिला. तो वहीं मोहम्मद शमी ने पहली पारी में फाइव विकेट हॉल लेने का कारनामा किया. तेज गेंदबाजों ने बढ़िया गेंदबाजी करते हुए साउथ अफ्रीका को दोनों पारियों में 200 रन के भीतर ऑलआउट किया. हालांकि सेंचुरियन में भारत के सीनियर बल्लेबाजों ने जरूर निराश किया.

चेतेश्वर पुजारा, रहाणे और कोहली का बल्ला खामोश रहा. विकेटकीपर ऋषभ पंत भी बल्ले से फ्लॉप रहे. ऐसे में सवाल ये उठ रहे हैं कि क्या जोहानिसबर्ग टेस्ट में टीम मैनेजमेंट पुजारा और रहाणे को टीम से बाहर करेंगे? क्या बेंच पर बैठे श्रेयस अय्यर को मौका मिलेगा? तमाम सवाल है और हम आज आपको बताएंगे किन 11 खिलाड़ियों के साथ टीम इंडिया को जोहानिसबर्ग टेस्ट में उतरना चाहिए.

READ ALSO-  हार के गम में डूबी टीम इंडिया को एक और बड़ा झटका, इस गलती पर आईसीसी ने सुनाई सजा

सबसे पहले बात करते हैं टॉप ऑर्डर की. रोहित शर्मा की गैरमौजूदगी में मयंक अग्रवाल को ओपनिंग करने का मौका मिला. और उन्होंने भरपूर फायदा उठाया. मयंक ने केएल राहुल के साथ पहले टेस्ट की पहली पारी में 117 रन की साझेदारी और भारत को मजबूत शुरुआत दिलाई. केएल राहुल ने 123 रन की पारी खेली. वहीं मयंक अग्रवाल ने 60 रन बनाए. दोनों ओपनर भारत के लिए पहले टेस्ट में टॉप स्कोरर भी रहे. इसके बाद कोई भी बल्लेबाज फिफ्टी प्लस स्कोर नहीं कर सका. ऐसे में ओपनिंग में बदलाव की कोई जरूरत नहीं है.

तीसरे नंबर पर चेतेश्वर पुजारा ने सबसे ज्यादा निराश किया. पहली पारी में शून्य और दूसरी पारी में 16. हालांकि जोहानिसबर्ग में पुजारा के नाम एक शतक है. और पिछले रिकॉर्ड की बदौलत वह खेल सकते हैं. मगर हालिया फॉर्म के अनुसार पुजारा की जगह टीम में नहीं बनती है. बेहतर होगा कि हनुमा विहारी को उनकी जगह उपरी ऑर्डर में मौका मिले. चौथे नंबर पर कप्तान विराट कोहली तो खेलेंगे ही.

READ ALSO-  भारत के इस स्टार हॉकी खिलाड़ी का हुआ निधन, ओलंपिक में दिलाया था टीम को गोल्ड मेडल...

पांचवें नंबर पर अजिंक्य रहाणे की जगह श्रेयस अय्यर को मौका दिया जाना चाहिए. रहाणे ने सेंचुरियन की पहली पारी में 48 और दूसरी पारी में 20 रन बनाए थे. छठे नंबर पर ऋषभ पंत खेलेंगे. इसके बाद गेंदबाजी की बात करें तो बदलाव की कोई जरूरत नहीं है. स्पिनर के तौर पर रविचंद्रन अश्विन सातवें नंबर पर खेलेंगे. इसके बाद शार्दुल ठाकुर, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद सिराज.

# जोहानिसबर्ग में ये भारत का छठा टेस्ट मैच होगा. 1992 के बाद भारत ने इस मैदान पर पांच टेस्ट मैच खेले हैं. दो में जीत मिली है. और तीन टेस्ट ड्रा रहे हैं. यानी जोहानिसबर्ग में भारत अजेय है.
# साउथ अफ्रीका में भारत ने मेजबान टीम के साथ 21 टेस्ट खेले हैं. सिर्फ चार में जीत मिली है. दो जोहानिसबर्ग, एक डरबन और एक सेंचुरियन. 10 टेस्ट गंवाएं हैं. और सात मुकाबले ड्रा रहे हैं.

READ ALSO-  WI vs ENG, T-20: भारत के खिलाफ सीरीज से पहले ही रंग में नजर आ रही वेस्टइंडीज, इस बल्लेबाज ने जड़ा तूफानी शतक

# 1956 से लेकर अब तक जोहानिसबर्ग में 42 टेस्ट खेले गए हैं. 18 में साउथ अफ्रीका को जीत मिली है. 13 मुकाबलों में हार. जबकि 11 मैच ड्रा रहे हैं.
# जोहानिसबर्ग में गेंदबाजों का बोलबाला रहा है. औसतन हर 29 रन के बाद यहां विकेट गिरते हैं. जबकि इकॉनमी रेट 3.06 का है. इसका मतलब ये भी है कि रन जल्दी से बनते हैं. और पासा पलटने में देरी नहीं लगती.

पिछली बार जब भारत और साउथ अफ्रीका इस मैदान पर भिड़े थे. तो भारत ने मेजबान टीम को 63 रन से हराया था. उम्मीद यही करते हैं कि टीम इंडिया कहानी दोहराए. और टेस्ट सीरीज पर कब्ज़ा जमाकर इतिहास रचे.
चेतन शर्मा नेकोहली की कप्तानी को लेकर क्या राज खोले?