Press "Enter" to skip to content

Corona Outbreak: इस तरह बच गई 42 लाख भारतीयों की जान! दुनियाभर में करीब 2 करोड़ संभावित मौतों को रोका

कोविड संकट में कोरोना वैक्सीन ने दुनियाभर में करीब 2 करोड़ संभावित मौतों को रोका है, यह चौंकाने वाला दावा लैंसेट स्टडी  में किया गया है। Lancet study ने भारत में आए कोविड संकट पर भी बात की है, कहा गया है कि कोरोना वैक्सीन ने यहां करीब 42 लाख लोगों की जान बचाई वर्ना कोरोना वायरस इन लोगों की जिंदगी भी खत्म कर देता।

स्टडी में दिसंबर 2020 से दिसंबर 2021 तक के आंकड़े लिये गए हैं, यह शुरुआती वक्त था और इसी वक्त कोविड वैक्सीन पहली बार मिलनी शुरू हुई थी। स्टडी में यह भी कहा गया है कि अगर वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) के टारगेट को पूरा कर लिया जाता तो 5,99,300 और जानें दुनियाभर में बचाई जा सकती थीं।

READ ALSO-  Janjgir Good Innovative : देश के पहले किसान स्कूल बहेराडीह में 18 विषयों के बाद अब कम्यूटर की भी पढ़ाई का हुआ शुभारम्भ, किसान और उनके बच्चों को मिलेगी कम्प्यूटर की शिक्षा

बता दें कि WHO ने टारगेट रखा था कि 2021 के खत्म होने तक दुनिया के सभी देशों में 40 फीसदी आबादी को कोविड वैक्सीन की एक या दो खुराक दे दी जाएं, हालांकि, कई वजहों से ऐसा हो नहीं पाया था।

स्टडी को लंदन के इंमीरियल कॉलेज ने किया है, इसके प्रोफेसर Oliver Watson ने बताया कि मॉडलिंग स्टडी बताती है कि कोविड टीकाकरण की वजह से भारत में लाखों जिंदगियां बची। वह बोले टीकाकरण का बेहद अच्छा असर देखने को मिला, खासकर के भारत में, यह पहला ऐसा देश था जहां डेल्टा वैरिएंट ने कोहराम मचाया था।

READ ALSO-  Jio Family Plan: एक रिचार्ज में चलेगा चार लोगों का फोन, फ्री मिलेगा Netflix और Amazon Prime...जानिए

ताजा स्थिति की बात करें तो भारत में कोरोना के 196 करोड़ से भी ज्यादा टीके लगाये जा चुके हैं। वहीं आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोविड की वजह से अब तक पांच लाख से ज्यादा (5,24,941) मौतें हो चुकी हैं।

error: Content is protected !!