Press "Enter" to skip to content

Civil Services exam 2022: एक ही परिवार के 4 बच्चों ने क्लियर किया UPSC, बन गए IAS, IPS अधिकारी, पिता ने कहा- ‘प्राउड फील करता हूं’

यूपीएससी की परीक्षा मुश्किल परीक्षा में से एक हैं। इसे पास करने के लिए दिन रात एक करने पड़ते हैं। वहीं हम आपको एक ऐसे परिवार के बारे में बताने जा रहे हैं। जहां चार भाई-बहनों ने यूपीएससी की परीक्षा पास की है और आज IAS, IPS के पद पर कार्यरत हैं।

इन चार भाई बहनों में दो भाई और दो बहनें हैं। ये उत्तर प्रदेश के लालगंज के रहने वाले हैं। उनके पिता, अनिल प्रकाश मिश्रा ने एक न्यूज वेबसाइट को इंटरव्यू देते हुए बताया, ” मैं एक ग्रामीण बैंक में मैनेजर था।मैंने अपने बच्चों की शिक्षा की गुणवत्ता से कभी समझौता नहीं किया। मैं चाहता था कि उन्हें अच्छी नौकरी मिले और मेरे बच्चे भी अपनी पढ़ाई पर ध्यान दें।”

READ ALSO-  JanjgirChampa Farmer School : किसान स्कूल और गोठान में आन, बान और शान से लहराया तिरंगा, गांव को गोद लेने वाली नम्रता नामदेव की आरती उतारकर बहेराडीहवासियों ने किया सम्मान, क़ृषि क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ काम करने वाले किसान हुए सम्मानित

चार भाई-बहनों में सबसे बड़े योगेश मिश्रा आईएएस अधिकारी हैं। उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा लालगंज में पूरी की और फिर मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान में इंजीनियरिंग की

उन्होंने नोएडा में नौकरी की, लेकिन सिविल सेवा की तैयारी जारी रखी। साल 2013 में, उन्होंने यूपीएससी परीक्षा पास की और आईएएस अधिकारी बन गए।

योगेश मिश्रा की बहन, क्षमा मिश्रा, जो सिविल सेवा की तैयारी कर रही थीं, अपने पहले तीन प्रयासों के दौरान इसे पास नहीं कर सकीं।

READ ALSO-  Cadbury Dairy Milk Ad Girl: क्या आप जानते हैं कौन है रक्षा बंधन के चॉकलेट के ऐड में नजर आने वाली लड़की ? तस्वीरें देख दीवाने हो जाएंगे आप...जानिए

हालांकि, उसने अपने चौथे प्रयास के दौरान परीक्षा पास की और अब एक IPS अधिकारी हैं।

तीसरी बहन, माधुरी मिश्रा, लालगंज के एक कॉलेज से ग्रेजुएट होने के बाद, पोस्ट ग्रेजुएशन करने के लिए इलाहाबाद चली गईं। इसके बाद उन्होंने 2014 में यूपीएससी की परीक्षा सफलतापूर्वक पास की और झारखंड कैडर की आईएएस अधिकारी बन गईं।

लोकेश मिश्रा, जो चारों में सबसे छोटे हैं, उन्हों साल 2015 में यूपीएससी की परीक्षा में 44वां स्थान हासिल किया था। अब वह IAS अधिकारी हैं।

READ ALSO-  छत्तीसगढ़ः दीवार ढहने से एक ही परिवार के 5 लोगों की मौत, सोते समय पति-पत्नी और 3 बेटियों की निकल गई जान

चारों भाई बहनों के पिता ने कहा, “आज मेरे बच्चे IAS, IPS अधिकारी हैं। अब मैं भगवान से क्या मांग सकती हूं। मुझे सब मिल गया। बच्चों की तरक्की देखकर मैं प्राउड फील करता हूं”

error: Content is protected !!