Press "Enter" to skip to content

कोरोना की जंग में डटे हैं छ्ग के पंचायत सचिव, सरकार द्वारा बीमा नहीं कराने से नाराजगी, संघ के माध्यम से प्रांताध्यक्ष ने सीएम और पंचायतमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन, प्रदेश में हैं 11 हजार 979 पंचायत सचिव

जांजगीर-चाम्पा. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पंचायतमंत्री टीएस सिंहदेव से कोरोना संकट के कार्य में लगे छ्ग के 11 हजार 979 पंचायत सचिवों ने बीमा कराने की मांग की है और बीमा नहीं होने पर पंचायत सचिव संघ ने नाराजगी जाहिर की है.
छ्ग पंचायत सचिव संघ के प्रांताध्यक्ष सीताराम कर्ष का कहना है कि कोरोना की जंग में ड्यूटी कर रहे अन्य विभागों के अधिकारियों-कर्मचारियों का 50 लाख बीमा किया गया है, उसी तरह पंचायत सचिवों का भी बीमा किया जाए. साथ ही, अतिरिक्त भत्ता दिया जाए. उनका यह भी कहना है कि सचिवों की 2 वर्ष संपरीक्षा अवधि पूरी होते ही पूरा वेतनमान दिया जाए.

छग पंचायत सचिव संघ का कहना है कि कोरोना की जंग में पंचायत सचिवों की ड्यूटी लगाई गई है और जान को जोखिम में डालकर वे अपना काम बखूबी कर रहे हैं. ऐसे में सरकार को तत्काल 50 लाख का बीमा कराना चाहिए. उनका यह भी कहना है कि मुख्यमंत्री और पंचायतमंत्री से गुहार लगाई गई है, लेकिन कोई पहल नहीं की गई है. ऐसे में हफ्ते भर में कोई पहल, सरकार नहीं करती तो छ्ग पंचायत सचिव संघ आंदोलन के लिए बाध्य हो जाएगा.



READ ALSO-  ब्रिलियंट पब्लिक स्कूल बनारी, जांजगीर के प्रांगण में ’महात्मा गांधी जी’ का 153 वीं वर्षगांठ हर्षोल्लास से संम्पन्न
Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!