Press "Enter" to skip to content

IND vs SA : केएल राहुल की जगह इस खिलाड़ी को बनाया गया होता कप्तान तो भारत की जीत थी पक्की

3 मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जा रही है। इस टेस्ट सीरीज का दूसरा टेस्ट मैच जॉहानिसबर्ग में खेला गया था, जहां भारतीय टीम के रेगुलर कप्तान विराट कोहली नहीं खेल सके थे। विराट कोहली की गैरमौजूदगी में केएल राहुल ने कप्तानी का जिम्मा संभाला था।

रहाणे की बजाय केएल राहुल की सौंपी गई थी कप्तानी
केएल राहुल टीम इंडिया के लिए टेस्ट क्रिकेट में पहली बार कप्तानी कर रहे थे। टेस्ट में भारत के पिछले काफी समय से उपकप्तान थे, लेकिन रहाणे को इस दौरे पर उपकप्तानी से हटा दिया गया, वहीं रोहित शर्मा को नया उपकप्तान बनाया गया, लेकिन रोहित शर्मा इस टेस्ट सीरीज में चोट के कारण उपलब्ध नहीं हो सके। ऐसे में टीम मैनेजमेंट ने जब दूसरे टेस्ट में कोहली फिट नहीं रहे तो रहाणे की बजाय राहुल को कप्तानी सौंपी।

READ ALSO-  IPL 2022 Mega Auction : आईपीएल ऑक्शन में किस प्लेयर का कितना है बेस प्राइस... इन खिलाड़ियों की बेस प्राइस रही ज्यादा... जानिए...

अजिंक्य रहाणे को कप्तानी ना देने पर वसीम जाफर के सवाल
का कप्तानी देने का फैसला पूरी तरह से गलत साबित हुआ, जहां भारतीय टीम को जॉहानिसबर्ग में 7 विकेट से हार मिली। इसके बाद अब केएल राहुल को कप्तानी दिए जाने के फैसले पर सवाल खड़े होने लगे हैं।

भारत के पूर्व क्रिकेटर वसीम जाफर ने इस फैसले पर सवाल खड़े किए हैं। वसीम जाफर ने इनसाइड क्रिकेट स्पोर्ट्स के साथ बात करते हुए कहा कि
“भारत ने कप्तान विराट कोहली को निश्चित तौर पर मिस किया। क्योंकि वो मैदान पर काफी आक्रमकता लाते हैं। जब आपके पास ऐसा खिलाड़ी मैदान पर होता है, तो आप जानते हैं कि आप अपनी गलती के लिए जवाबदेह होंगे। उन्होंने उस एनर्जी को मिस किया।”

READ ALSO-  राज बावा ने बनाया अंडर-19 विश्व कप इतिहास में किसी भारतीय का सर्वाधिक स्कोर

केएल राहुल को कप्तानी देने का फैसला गलत
वसीम जाफर ने आगे कहा कि
“मैं भी टीम मैनेजमेंट के फैसले से हैरान था। जब आपको अजिंक्य रहाणे जैसा कोई मौजूद है, जिसने टेस्ट मैच नहीं हारा और आपको ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज भी जिताई है, क्या आपको केएल राहुल को कप्तानी देने के जरुरत थी?”

”मेरे पास केएल राहुल के खिलाफ होने की कोई वजह नहीं है। वो युवा है और पंजाब किंग्स के लिए कप्तानी कर चुका है। लोग उसे भविष्य के कप्तान के रूप में देख रहे हैं। लेकिन मुझे लगता है कि कोहली की अनुपस्थिति में रहाणे को कप्तानी करनी चाहिए थी।”