Press "Enter" to skip to content

सामान्य लक्षण वाले मरीजों की होगी कोविड जांच, कलेक्टर ने दिए निर्देश

जांजगीर-चांपा. कलेक्टर जितेंद्र शुक्ला ने कोविड की तीसरी लहर और नए वेरिएंट ओमिक्रान के संक्रमण की रोकथाम, सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए विगत दिनों खंड चिकित्सा अधिकारियों की बैठक लेकर कोविड जांच की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिये है।

कलेक्टर ने सभी खंड चिकित्सा अधिकारियों से कहा है कि उपचार के लिए आए खांसी, सर्दी, बुखार के मरीजों तथा अन्य सामान्य लक्षण वाले मरीजों का कोविड जांच अनिवार्य रुप से करवाएं। कोविड संक्रमित पाए जाने पर तत्काल उसको कोविड केयर सेंटर में आइसोलेशन की व्यवस्था करें।

READ ALSO-  इंडियन आर्मी में निकली बंपर भर्ती, 10वीं पास भी कर सकते हैं आवेदन, 63200 रुपए तक मिलेगी सैलरी... विस्तार से पढ़िए...

सुरक्षा नियमों के उल्लंघन पर होगी कार्यवाही-

कलेक्टर ने कहा है कि कोविड से सुरक्षा के लिए फिजिकल डिस्टेंसिंग और मास्क पहनना अनिवार्य किया गया है। निर्देशों का कड़ाई से पालन करने के लिए पुलिस, राजस्व एवं संबंधित निकाय के अधिकारियों की टीम सतत निगरानी रखें। उल्लंघन पर कड़ी कार्रवाई की जाए। कलेक्टर ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवानें के लिए दुकानों के सामने गोल घेरा बनवाने को कहा है।

READ ALSO-  छत्तीसगढ़ : जनसम्पर्क विभाग में तबादले, देखिए पूरी सूची...

इसके अलावा छोटे हाट बाजारों में भी दुकानदारों को दूर-दूर बैठाने के निर्देश दिए गये हैं। दुकान संचालक और कर्मचारी तथा विभिन्न विभाग संस्थानों में कार्यरत लोगों का वैक्सीनेशन अनिवार्य किया गया है। दुकानों के सामने हाथ धोने व सैनिटाइजर की भी व्यवस्था करना आवश्यक होगा।