Press "Enter" to skip to content

WTC 2021-2023 : पहले टेस्ट चैंपियन न्यूजीलैंड को अब तक नहीं मिली एक भी जीत, देखें कौन सी टीम टॉप पर…

ICC WTC 2021-2023 : 1st Test Champions New Zealand : विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के बाद सबसे ज्यादा टेस्ट खेलने और जीतने के मामले में भारतीय टीम सबसे ऊपर है। भारत ने अब तक कुल आठ टेस्ट खेले हैं और चार में जीत हासिल की है।

पिछला साल न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के लिए शानदार रहा था। टीम ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के पहले संस्करण के फाइनल में भारत को हराया और टेस्ट चैंपियन बना। हालांकि, अब दूसरे संस्करण में कीवी टीम का प्रदर्शन अब तक निराशाजनक रहा है।

जुलाई 2021 से 2023 तक चलने वाले इस साइकिल में सात महीने से ज्यादा बीत चुके हैं। इस दौरान कीवी टीम ने तीन टेस्ट खेले हैं और दो में हार मिली। एक टेस्ट ड्रॉ रहा है। टेस्ट चैंपियन फिलहाल एक जीत के लिए तरस रहे हैं। न्यूजीलैंड को भारत और बांग्लादेश ने एक-एक टेस्ट में हराया है।

भारतीय टीम ने सबसे ज्यादा मैच जीते

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के बाद सबसे ज्यादा टेस्ट खेलने और जीतने के मामले में भारतीय टीम सबसे ऊपर है। भारत ने अब तक कुल आठ टेस्ट खेले हैं और चार में जीत हासिल की है। दो मैच ड्रॉ रहे हैं, जबकि दो में टीम को हार मिली है। दूसरे नंबर पर ऑस्ट्रेलिया है, जिसने चार मैच खेले और तीन जीते हैं। एक टेस्ट ड्रॉ रहा है।

READ ALSO-  ग्लेन मैक्सवेल ने खेली बीग बैश लीग इतिहास की सबसे बड़ी पारी, 64 गेंदों पर ठोक डाला 154* रन

पाकिस्तान की टीम तीसरे नंबर पर

पाकिस्तान की टीम ने अब तक चार टेस्ट खेले हैं और उसमें से तीन में जीत हासिल की है। एक मैच में पाकिस्तान को हार का सामना करना पड़ा है। चौथे नंबर पर श्रीलंकाई टीम है। उसने डब्ल्यूटीसी फाइनल के बाद अब तक कुल दो टेस्ट खेले और दोनों में जीत हासिल की।

दक्षिण अफ्रीकी टीम पांचवें नंबर पर

दक्षिण अफ्रीकी टीम इस लिस्ट में पांचवें नंबर पर है। अगले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के लिए अफ्रीकी टीम ने पिछले महीने ही भारत के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत की। टीम ने अब तक दो टेस्ट खेले हैं। एक में उसे जीत और एक में हार मिली। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच अगला टेस्ट केप टाउन में 11 जनवरी से खेला जाएगा।

क्या कहता है आईसीसी का नियम

READ ALSO-  IPL 2022 : क्या IPL में खेलते हुए नज़र आएंगे Joe Root? Mega Auction से पहले खुद किया खुलासा...

हालांकि, ज्यादा टेस्ट जीतने से डब्ल्यूटीसी की अंक तालिका पर फर्क नहीं पड़ता। अब फर्क प्वाइंट पर्सेंट से पड़ता है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) के नियम के अनुसार अंक तालिका में टीमों के स्थान का फैसला जीत प्रतिशत के आधार पर किया जाता है यानी किसने कितने मैच खेले हैं और उसमें उसे कितनी जीत, हार और ड्रॉ मिली है।

किस आधार पर मिलते हैं प्वाइंट
आईसीसी के नियमों के अनुसार एक मैच जीतने पर विजेता टीम को 12 प्वाइंट मिलते हैं। वहीं मैच ड्रॉ होने पर दोनों टीमों को चार-चार प्वाइंट मिलते हैं और हारने वाली टीम को कोई प्वाइंट नहीं मिलता है। मैच टाई होने पर दोनों टीमों को छह-छह प्वाइंट्स मिलते हैं। वहीं प्वाइंट्स टेबल की रैंकिंग इस आधार पर तय की जाती है कि एक टीम ने हर मैच में कितने प्रतिशत प्वाइंट हासिल किए हैं। एक मैच में कुल 12 प्वाइंट्स ही होते हैं।

डब्ल्यूटीसी अंक तालिका में भारत चौथे नंबर पर

भारत के खिलाफ दूसरा टेस्ट जीतकर दक्षिण अफ्रीका ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की अंक तालिका में भी अपना खाता खोल लिया। वह अब 12 अंकों और 50 की जीत प्रतिशत के साथ पांचवें नंबर पर काबिज हो गई है। वहीं टीम इंडिया टेस्ट चैंपियनशिप की दूसरी हार के बावजूद अपने स्थान पर बरकरार है और चौथे पायदान पर कब्जा किए हुए है। भारत के जीत का प्रतिशत 55.21 है। धीमे ओवर रेट के कारण टीम इंडिया को तीन प्वाइंट्स का नुकसान भी हुआ है, जिसकी वजह से उसके अंक भी 53 हो गए हैं।

READ ALSO-  IND vs SA : जब क्रीज के एक तरफ ही पहुंचे राहुल-पंत, फिर भी नहीं हुए आउट, जानिए... क्या है पूरा माजरा..

श्रीलंका टॉप पर पहुंची

एशेज सीरीज में लगातार तीन टेस्ट मैच जीतकर ऑस्ट्रेलियाई टीम विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की अंक तालिका में पहले स्थान पर पहुंच गई थी।  लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ सिडनी टेस्ट में ड्रॉ के बाद कंगारू टीम तीन जीत, 40 अंकों और 83.33 जीत प्रतिशत के साथ दूसरे स्थान पर आ गई है। पहले नंबर पर श्रीलंका की टीम पहुंच गई है। श्रीलंका की टीम दो जीत, 24 अंकों और शत प्रतिशत जीत के रिकॉर्ड के साथ पहले स्थान पर है, वहीं पाकिस्तान की टीम तीन जीत, एक हार, 36 अंकों और 75 फीसद जीत प्रतिशत के साथ तीसरे नंबर पर है।