Press "Enter" to skip to content

फ़िल्म ‘दसवीं’ के रियल कैरेक्टर बने…हरियाणा के ये पूर्व CM, 87 की उम्र में हुए….10th पास जानिए विस्तार से

इसमें वो एक मुख्यमंत्री के रोल में थे जिसे किसी घोटाले में जेल जाना पड़ता है और वहां से वो दसवीं (10) की परीक्षा देता है. इसमें वो पास भी हो जाता है. कुछ ऐसा ही हरियाणा के पूर्व सीएम ओम प्रकाश चौटाला (Om Prakash Chautala) के साथ भी हुआ है. उन्होंने भी 87 की उम्र में दसवीं की परीक्षा पास कर ली है.

ओपन स्कूल से दी थी दसवीं (Dasvi) की परीक्षा

साल 2021 में चौटाला ने ओपन स्कूल से ही 12वीं की परीक्षा के पर्चे भर दिए. इसमें वो पास भी हो गए, लेकिन Haryana School Education Board ने उनका रिज़ल्ट रोक लिया गया क्योंकि, उन्होंने दसवीं की इंग्लिश की परीक्षा उत्तीर्ण नहीं की थी.

READ ALSO-  साउथ फिल्मों ने बजाई.....बॉलीवुड की बैंड, जयेशभाई जोरदार....ने पहले दिन तोड़ा दम, रणवीर ने दी लगातार दूसरी फ्लॉप…

इसलिए वो उन्हें इस साल दसवीं (Dasvi) के बचे हुए इंग्लिश के पेपर में भी बैठना पड़ा. उन्होंने इसे 87 प्रतिशत नंबरों से पास किया. इसलिए अब ओम प्रकाश चौटाला को एक साथ ही दसवीं और बारहवीं की परीक्षा उत्तीर्ण करने के सर्टिफ़िकेट दिए गए हैं.

इस ख़बर का पता जब ‘दसवीं’ स्टार अभिषेक बच्चन को पता चला तो उन्होंने ख़ुद ख़बर को ट्वीट करते हुए ओम प्रकाश चौटाला को बधाई दी.

READ ALSO-  Gold Price Weekly: हफ्ते भर में 1000 से...ज्यादा नीचे गिरा सोना, जानिए आज कितना है भाव

हरियाणा के मुख्यमंत्री रह चुके ओम प्रकाश चौटाला को कल 10वीं और 12वीं की मार्कशीट सौंपी गई. उन्होंने National Institute Of Open School से ये दोनों परीक्षाएं पास की हैं. अब आप सोच रहे होंगे कि वो एक साथ दोनों क्लास में कैसे पास हो सकते हैं.

जेल से दिए थे एग्ज़ाम

डरिये मत इसमें कोई घोटाला नहीं है. दरअसल, ओम प्रकाश चौटाला साल 2017 में ओपन से दसवीं की परीक्षा दी थी. उस वक़्त वो दिल्ली की तिहाड़ जेल (Tihar Jail ) में थे, यहां वो शिक्षक भर्ती घोटाले में शामिल होने के लिए 10 साल की सजा काट रहे थे. उन्होंने सारे एग्ज़ाम तो दिए पर वो इंग्लिश की परीक्षा नहीं दे पाए.

READ ALSO-  Primitive Tribal Lifestyle: जानिए, झारखंड-छत्तीसगढ़ सीमा की.....पहाड़ी बसे ओखरगढ़ा गांव में कैसे रहती है....आदिम जनजाति पढिए

रोका गया था रिज़ल्ट

किसी ने सच ही कहा है उम्र बस एक नंबर ही है और ये ओम प्रकाश चौटाला ने एक बार फिर से साबित कर दिया है.

error: Content is protected !!