Press "Enter" to skip to content

Janjgir : स्वामी आत्मानन्द उत्कृष्ट विद्यालयों का क्रेज ऐसा बढ़ा कि सीट से कई गुना ज्यादा आ गए आवेदन, दस्तावेजों की कमी से आधे आवेदन भी हुए निरस्त, फिर लॉटरी से हुआ छात्र-छात्राओं का चयन

जांजगीर-चाम्पा. जिले के स्वामी आत्मानन्द उत्कृष्ट विद्यालय में प्रवेश की होड़ मची है और सीट से 10 गुना ज्यादा आवेदन पहुंचे. हालांकि, आधे आवेदन दस्तावेजों के अभाव में निरस्त हो गए, फिर भी सीट के लिहाज से पात्र आवेदन ही कई गुना अधिक रहे. ऐसे में लॉटरी से छात्र-छात्राओं का नाम फाइनल किया गया और प्रवेश की प्रक्रिया पूरी की गई.

READ ALSO-  Big Accident : जांजगीर. नगर पंचायत के पूर्व कर्मचारी की पत्नी की मौत, पूर्व कर्मचारी पति को भी आई चोट, हाइवा ने स्कूटी को मारी टक्कर, हादसे के बाद आक्रोशित लोगों में NH-49 पर किया चक्काजाम

आपको बता दें, जांजगीर के स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट विद्यालय में 3 हजार 310 ऑनलाइन आवेदन मिले थे, इसमें 1635 आवेदन निरस्त हो गए. यहां 156 सीटों के लिए लॉटरी निकाली गई. इसी तरह 6 सौ आवेदन में 320 आवेदन निरस्त हुए तो 280 पात्र आवेदन में 85 विद्यार्थियों का चयन लॉटरी से हुआ. ऐसा ही हाल बम्हनीडीह में भी रहा, जहां 124 सीट के लिए 1145 आवेदन मिले थे. यहां भी आधे आवेदन निरस्त हुए.

READ ALSO-  महारानी लक्ष्मीबाई शासकीय विद्यालय में किया गया सरस्वती योजना के तहत साइकिल का वितरण

जिला शिक्षा अधिकारी कुमुदिनी बाघ का कहना है कि यह बड़ी खुशी की बात है, स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट विद्यालय में प्रवेश लेने की होड़ है. इतना जरूर है कि ऑनलाइन से मिले आवेदनों में दस्तावेजों का अभाव था या आवश्यक दस्तावेज अटैच नहीं थे, जिसकी वजह से सभी स्कूलों के आवेदनों में आधे आवेदन निरस्त हो गए, फिर भी पात्र आवेदनों की बड़ी संख्या रही, जिसके बाद लॉटरी से छात्र-छात्राओं के नाम का चयन किया गया है.

error: Content is protected !!