Press "Enter" to skip to content

Taarak Mehta Ka Ooltah Chashmah में किरन भट्ट ऐसे बने नट्टू काका, अब कर रहे पुराने कलाकार को कॉपी. पढ़िए…

तारक मेहता का उल्टा चश्मा में जब से नट्टू काका के किरदार में किरन भट्ट (Kiran Bhatt) की एंट्री हुई तो लोगों को शो में मजा आने लगा है. काफी समय से इस शो में नट्टू काका (Nattu Kaka) नजर नहीं आ रहे थे. अब जब से उनकी वापसी हुई है तो ये किरदार फिर से जीवंत हो चुका है. अब हाल ही में एक इंटरव्यू में इस रोल को निभा रहे किरन भट्ट ने बताया कि उन्हें ये रोल कैसे मिला.

READ ALSO-  Founder of Drishti IAS: डॉ. विकास दिव्यकीर्ति की UPSC में रैंक क्या थी? विस्तार से पढ़िए

 

 

ऐसे नट्टू काका बने किरन भट्ट
एक्टर किरन भट्ट पहले भी कई सीरियल में काम कर चुके हैं तो गुजराती सिनेमा का भी बड़ा नाम है. वो खुद प्ले को प्रोड्यूस कर चुक हैं, डायरेक्ट कर चुके हैं और खुद एक्ट भी कर चुके हैं. हालांकि उन्होंने माना कि लॉकडाउन से पहले सब कुछ अच्छा था लेकिन इस महामानी ने हालात जुदा कर दिए हैं. अब चीज़े पहले से बदतर गई हैं. ऐसे में जब नट्टू काका के किरदार के लिए असित मोदी ने उन्हें बुलाया तो वो काफी खुश थे. उन्होंने ऑडिशन भी अच्छा दिया जिससे असित मोदी इम्प्रेस हो गए और उन्होंने कह दिया कि ये रोल उन्हें ही करना होगा. बस इस तरह उन्हें रोल मिल गया.

READ ALSO-  Founder of Drishti IAS: डॉ. विकास दिव्यकीर्ति की UPSC में रैंक क्या थी? विस्तार से पढ़िए

किरदार को कॉपी करने की कर रहे हैं कोशिश
वहीं अब किरन भट्ट चाहते हैं कि वो इस किरदार को कर तो रहे हैं लेकिन कहीं ना कहीं पुराने नट्टू काका के अंदाज को भी जिंदा रखना चाहते हैं लिहाजा वो उनके हाव भाव को कॉपी कर रहे हैं ताकि घनश्याम नायक इस शो और किरदार के जरिए जिंदा रह सकें.

READ ALSO-  Founder of Drishti IAS: डॉ. विकास दिव्यकीर्ति की UPSC में रैंक क्या थी? विस्तार से पढ़िए

बीते साल हुई थी घनश्याम नायक की मौत
आपको बता दें कि घनश्याम नायक की मौत पिछले साल कैंसर से जूझते हुए हुई. उन्हें कैंसर था और वो काफी समय से इसका इलाज भी करा रहे थे. लेकिन आखिरकार इस बीमारी से लड़ते हुए उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया.

error: Content is protected !!