Press "Enter" to skip to content

छत्तीसगढ़: खतरे के निशान पर पहुंचा राज्य के सबसे बड़े बांध का पानी, खोले गए सभी 14 गेट, मंडराया बाढ़ का खतरा

धमतरी. प्रदेश में बीते कुछ दिनों से तेज बारिश हो रही हैं। राज्य के कई जिले ऐसे हैं,जहां पिछले एक सप्ताह से सूर्योदय नहीं हुआ हैं. बिलासपुर,बलौदाबाजार, जांजगीर, धमतरी, गरियाबंद और कांकेर जिले में पिछले कुछ दिनों से लगातार बारिश का सिलसिला जारी हैं।



नदी-नाले और खेत-खलिहानों में पानी ही पानी दिखाई दे रहा हैं। किसान आफत कि बारिश से काफी चितिंत हैं। फसल पानी में धीरे धीरे डूब रहे हैं। महानदी पिछले 3-4 दिनों से उफान पर हैं।

READ ALSO-  अयोध्या को लता मंगेशकर चौक की सौगात देंगे पीएम नरेंद्र मोदी, विशालकाय वीणा होगी आकर्षण का केंद्र. पढ़िए खबर...

अब खबर आ रही हैं कि गंगरेल बांध का पानी खतरे के निशान के ऊपर चला गया हैं। बांध के सभी 14 गेट खोलकर पानी छोड़ा जा रहा हैं। बताया जा रहा हैं कि 80 हजार क्यूसेक प्रति सेकेंड से पानी छोड़ा जा रहा हैं।

महानदी किनारे बसे गांवों में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया हैं। कई सालों के बाद गंगरेल से इतनी ज्यादा मात्रा में पानी छोड़ा जा रहा हैं। ऐसे में बाढ़ की आशंका के चलते महानदी किनारे में बसे गांवो में हाई अलर्ट जारी किया गया है।

READ ALSO-  Janjgir Attack Arrest : प्राणघातक हमला करने वाले 2 आरोपियों को पुलिस ने अकलतरा के रेलवे स्टेशन के पास से किया गिरफ्तार, भेजे गए जेल, 2 आरोपियों की पहले हो चुकी है गिरफ्तारी

गौरतलब है कि जिले के सोढूर बांध,दुधावा और माडमसिल्ली बांध की लबालब हो गया है। जिसके चलते 14 अगस्त को सोढूर बांध के पांचो गेट को खोलकर पानी सोढूर नदी में छोडा गया हैं।

बहरहाल जिला प्रशासन का कहना है कि बाढ से निपटने के लिए पूरी तैयारी कर ली गई है। बाढ प्रभावित गांवो के सुराक्षित स्थानो में अतिरिक्त राशन रखवाया गया हैं। साथ ही लोगो के रहने के लिए गांव के सामुदायिक भवन,स्कूल में पूरी व्यवस्था की गई है।

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!