Press "Enter" to skip to content

इस हीरो ने उड़ा दी थी Rajesh Khanna की रातों की नींद, लेकिन फिर 100 फिल्मों के बाद भी हासिल नहीं कर पाए मुकाम!. जानिए क्या थी वजह…

फ़िल्में करके भी नहीं मिली थी पहचान लेकिन इस एक टीवी सीरियल ने बना दिया था विजय अरोड़ा को घर-घर में पॉपुलर बात आज एक ऐसे एक्टर की जिसने अपने फ़िल्मी करियर में 100 से अधिक फिल्मों में काम किया था लेकिन उन्हें घर-घर में पहचान एक टीवी सीरियल के जरिए मिली थी.

 

 

 

हम बात कर रहे हैं 70 के दशक के चर्चित एक्टर रहे विजय अरोड़ा (Vijay Arora) की जो आज हमारे बीच नहीं हैं. हम आपको बताएंगे कि कैसे विजय अरोड़ा की शौहरत से एक समय इंडस्ट्री के पहले सुपर स्टार राजेश खन्ना तक थर्रा गए थे.

READ ALSO-  युजवेंद्र चहल की वाइफ ने अब तेलुगु सॉन्ग पर किया धांसू डांस, लोग बोले- क्या एनर्जी है; आप भी देखें वीडियो...

 

 

जी हां, मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो विजय अरोड़ा साल 1973 में आई फिल्म ‘यादों की बारात’ में एक्ट्रेस जीनत अमान (Zeenat Aman) के साथ नज़र आए थे. फिल्म हिट थी वहीं, जीनत और विजय पर फिल्माया गया एक सॉन्ग ‘चुरा लिया है तुमने जो दिल को’ बेहद पॉपुलर हुआ था. इस फिल्म की रिलीज के बाद विजय की गिनती इंडस्ट्री के बड़े स्टार्स में होने लगी थी.

READ ALSO-  खुशखबरी! रक्षाबंधन के दिन सिर्फ 750 रुपए में भी मिलेगा LPG सिलेंडर, फटाफट कर ले बुकिंग...जानिए पूरी प्रक्रिया

 

 

वहीं, राजेश खन्ना को यह डर सताने लगा था कि कहीं विजय की यह सक्सेस उनकी गद्दी को ना हिला दे. हालांकि, इस फिल्म के बाद विजय की कोई फिल्म हिट साबित नहीं हुई थी. लगभाग 100 फ़िल्में करने के बाद भी विजय फिल्मों में अपनी जगह बना पाने में नाकामयाब ही साबित हुए थे. हालांकि, विजय की किस्मत में कुछ और ही लिखा हुआ था. असल में साल 1987 में रामानंद सागर ने टीवी सीरियल ‘रामायण’ (Ramayan) में विजय अरोड़ा को मेघनाद का रोल ऑफर किया था.

READ ALSO-  पांच दिनों तक बंद रहेगी इंटरनेट सेवा, लागू हुई निषेधाज्ञा, इस वजह से प्रशासन ने लिया फैसला...पढ़िए

 

 

 

इस रोल को निभाने के बाद जैसे विजय हमेशा-हमेशा के लिए अमर हो गए थे. जितनी पॉपुलैरिटी विजय को 100 फ़िल्में करके नहीं मिली उतनी इस सीरियल से मिल गई थी. हालांकि, कैंसर से लड़ते हुए साल 2007 में विजय इस दुनिया को अलविदा कह गए थे.

error: Content is protected !!