Press "Enter" to skip to content

SSC CGL 2022: सीजीएल परीक्षा अब तीन नहीं दो चरणों में, गणित व अंग्रेजी के प्रश्नों की संख्या कम..

कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) की संयुक्त स्नातक स्तरीय भर्ती (सीजीएल) परीक्षा के प्रारूप में बड़ा बदलाव कर दिया गया है। यह भर्ती परीक्षा केंद्र सरकार के मंत्रालयों और दफ्तरों में स्नातक शैक्षिक योग्यता वाले 35 प्रकार के रिक्त पदों को भरने के लिए होती है। हर साल इस भर्ती में सामान्य तौर पर दस हजार पद होते हैं लेकिन सीजीएल 2022 की भर्ती में पहली बार 20 हजार पद आधिकारिक तौर पर घोषित किए गए हैं। जानकारों के मुताबिक इतनी बड़ी संख्या में पद पहली बार घोषित किए गए हैं।



 

 

 

सीजीएल 2022 की परीक्षा बदले प्रारूप पर होगी, जिसका नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है। इस भर्ती में अभी तक तीन चरण (टीयर-1, 2 और 3) होते थे लेकिन अब दो ही चरण होंगे। खास बात यह है कि तीन चरणों की परीक्षा के बाद होने वाली दक्षता परीक्षा यानी डेटा इंट्री स्पीड टेस्ट भी अब दूसरे चरण की परीक्षा के साथ ही हो जाएगा। जिससे भर्ती प्रक्रिया में लगने वाला समय काफी हद तक कम हो जाएगा।

 

 

 

दूसरे चरण की परीक्षा में बदलाव दूसरे चरण की परीक्षा में गणित और अंग्रेजी के प्रश्नों की संख्या काफी कम कर दी गई है। गणित के प्रश्न 100 से घटाकर 30 तो अंग्रेजी के प्रश्न 200 से कम कर 45 कर दिए गए हैं। दूसरे चरण की परीक्षा में तीन पेपर ही होंगे। पहला पेपर सभी अभ्यर्थियों के लिए अनिवार्य होगा, जो दो सत्रों में होगा। पहले सत्र में तीन खंड होंगे। पहले खंड में मैथमेटिकल एबिलिटिज तथा रिजनिंग और जनरल इंटेलिजेंस के 30-30 प्रश्न यानी कुल 60 प्रश्न पूछे जाएंगे।

READ ALSO-  Indian Navy SSR Recruitment 2022: भारतीय नौसेना में इन 1400 पदों पर निकली वैकेंसी, 12वीं पास करें आवेदन

 

 

 

दूसरे खंड में इंग्लिश लैंग्वेज एंड कांप्रिहेंशन के 45 और जनरल अवेयरनेस के 25 प्रश्न यानी कुल 70 प्रश्न होंगे। तीसरे खंड में कंप्यूटर नॉलेज के 20 प्रश्न पूछे जाएंगे। पहले पेपर के दूसरे सत्र में ही डेटा इंट्री स्पीड टेस्ट भी आयोजित किया जाएगा। अभी तक यह टेस्ट लिखित परीक्षा के बाद होता था। दूसरे पेपर में सांख्यिकी के 100 और तीसरे पेपर में जनरल स्टडीज (फाइनेंस एंड इकोनॉमी) के 100 प्रश्न पूछे जाएंगे। दूसरा पेपर कनिष्ठ सांख्यिकी सहायक व तीसरा पेपर सिर्फ असिस्टेंट आडिट अफसर- असिस्टेंट एकाउंट अफसर पद के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों को ही देना होगा।

 

 

 

अभी तक दूसरे चरण की भर्ती में चार पेपर थे। पहले पेपर में क्वांटेटिव एबीलिटिज यानी गणित के 100, दूसरे पेपर में इंग्लिश लैंग्वेज एंड कांप्रिहेंशन के 200, तीसरे पेपर में सांख्यिकी के 100 और चौथे पेपर में जनरल स्टडीज (फाइनेंस एंड इकोनॉमी) के 100 प्रश्न पूछे जाते थे। पहला व दूसरा पेपर सभी के लिए अनिवार्य होता था जबकि तीसरा पेपर सिर्फ कनिष्ठ सांख्यिकी अफसर और चौथा पेपर सिर्फ असिस्टेंट आडिट अफसर-असिस्टेंट एकाउंट अफसर पद के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों को देना होता था।

READ ALSO-  Hot Look: कैमरे के सामने बेकाबू हुईं ईशा गुप्ता, कई कट्स वाली ड्रेस पहनकर हर तरह से ढाया कहर. देखिए..

 

 

 

काफी विवादित थी तीसरे चरण की परीक्षा

तीसरे चरण की परीक्षा में दूसरे चरण की परीक्षा में सफल होने वाले अभ्यर्थी शामिल होते थे। इस चरण की परीक्षा में अभ्यर्थियों को निबंध, सार, पत्र या आवेदन पत्र लिखना होता था। 100 नंबर की इस परीक्षा को लेकर काफी विवाद होता था। कभी कॉपी कैंसिल हो जाती थी तो कभी यूएफए में रिजल्ट आ जाता था तो कभी निबंध के शब्दों की संख्या अधिक होने के कारण उन अभ्यर्थियों को अयोग्य ठहरा दिया जाता था, जिनका पहले और दूसरे चरण की परीक्षा में नंबर काफी अधिक होता था। दो साल पहले इस चरण की परीक्षा का विवाद पीएमओ तक पहुंचा था।

 

 

 

आठ अक्टूबर तक आवेदन

सीजीएल 2022 के लिए आनलाइन आवेदन शुरू हो गया है। आवेदन 8 अक्तूबर तक लिए जाएंगे। 12 और 13 अक्तूबर को आवेदन पत्र में सुधार का मौका मिलेगा। पहले चरण की परीक्षा दिसंबर 2022 में होगी। दूसरे चरण की परीक्षा के बारे में जानकारी बाद में दी जाएगी।

READ ALSO-  Bharat Jodo PadYatra : राहुल गांधी के साथ भारत जोड़ो पदयात्रा में शामिल हुए प्रदेश कांग्रेस सचिव इंजी. रवि पाण्डेय, डिजिटल सदस्यता अभियान की उपलब्धि को राहुल गांधी को अवगत कराया

 

 

 

अब तीन नंबर का होगा एक प्रश्न

दूसरे चरण की परीक्षा का पहला पेपर जो सबके लिए अनिवार्य होगा उसमें अब हर प्रश्न तीन-तीन नंबर का होगा। वहीं दूसरे और तीसरे पेपर में हर प्रश्न दो-दो नंबर का होगा। माइनस मार्किंग के तहत तीन नंबर का एक प्रश्न गलत होने पर एक नंबर जबकि दो नंबर का एक प्रश्न गलत होने पर 0.50 यानी आधा नंबर की कटौती की जाएगी। अभी तक इंग्लिश लैंग्वेज एंड कांप्रिहेंशन के प्रश्न एक और बाकी दो-दो नंबर के होते थे। एक नंबर वाला प्रश्न गलत होने पर 0.25 नंबर की कटौती की जाती थी।

 

 

 

पहले चरण की परीक्षा पहले जैसी

पहले चरण की परीक्षा में कोई बदलाव नहीं किया गया है। इसमें पूर्व की तरह जनरल इंटेलिजेंस एंड रिजनिंग, जनरल अवेयरनेंस, क्वांटेटिव एप्टीट्यूड तथा इंग्लिश कांप्रिहेंशन के 25-25 यानी कुल 100 प्रश्न पूछे जाएंगे। प्रत्येक प्रश्न दो नंबर का होगा यानी पूरी परीक्षा 200 नंबर की होगी।

Mission News Theme by Compete Themes.
error: Content is protected !!