Press "Enter" to skip to content

जिले में अन्य प्रांतों से आने वाले मजदूरों के आवास, कोरंटाईन, भोजन, पेयजल, कोविड-19 के संक्रमण नियंत्रण प्रोटोकाल के पालन की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करें : कलेक्टर, जिला स्तरीय कोविड-19 कोर कमेटी की हुई बैठक, प्रत्येक कोरंटाईन सेंटर के लिए जिला स्तरीय अधिकारी, नोडल अधिकारी नियुक्त करने के निर्देश

जांजगीर-चांपा. कलेक्टर एवं कोविड-19 जिला स्तरीय कोर कमेटी के अध्यक्ष कलेक्टर जेपी पाठक ने अन्य राज्यों से गृह जिला जांजगीर-चांपा में आने वाले श्रमिकों को उनके निवास ग्राम में 14 दिन की कोरंटाईन में रखने, आवास, पेयजल, भोजन, चिकित्सा स्टाफ, स्वच्छता सुरक्षा, सेनेटाइजेशन सहित कोविड-19 के संक्रमण से बचाव की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने प्रत्येक कोरंटाईन सेंटर के लिए जिला स्तरीय विभागीय अधिकारी को समन्वय के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त करने के निर्देश दिए है।
कलेक्टर कार्यालय सभाकक्ष में जिला स्तरीय कोविड-19 कमेटी की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कलेक्टर ने विभागीय अधिकारियों को पृथक-पृथक दायित्व सौंपते हुए उन्हें निर्देशों का कोविड-19 से बचाव एवं सेक्रमण का ध्यान रखते हुए गंभीरता से पालन सुनिश्चित करने कहा है।
छात्रावास, कॉलेज, हायर सेकेंडरी, हाई स्कूल और सार्वजानिक भवो बनेंगे क्वॉरेंटाइन सेंटर –
सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग श्री लहरे, जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित कर कलेक्टर ने जिले के छात्रावासों, महाविद्यालय, हाई और हायर सेकेंडरी स्कूलों, सार्वजनिक भवनों की सूची तैयार करने भवनों में पेयजल, स्वच्छता, विद्युत, सेनेटाइजर ,हैंड वास का समुचित प्रबंध करने के निर्देश दिए। उन्होंने ऐसे सभी भवनों की सूची जिला प्रशासन को तत्काल उपलब्ध कराने कहा है ।
ग्राम वार अन्य जिलों, प्रांतों में प्रवासी मजदूरों की जानकारी तैयार करें –
श्रम पदाधिकारी केके सिंह को निर्देशित कर कलेक्टर ने ग्राम वार पलायन कर अन्य राज्यों में गए मजदूरों की सूची तैयार करने कहा है। उन्होंने जिले के प्रवासी मजदूरों के नाम, गांव का नाम, परिवार के मुखिया और आश्रित सदस्यों की संख्या, मोबाइल नंबर, की जानकारी शीघ्र उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।
जिले के अन्य राज्यों से करीब 15 हजार मजदूरों के वापस आने की संभावना है। बैठक में बताया गया कि 30 हजार लेबर, जिले से अन्य राज्यों में लाकडउन में फंसे हुए हैं. सर्वाधिक करीब 20 हजार लेबर जम्मू कश्मीर में है ।
आने वाले श्रमिकों की स्वास्थ्य जांच एवं हेतु टीम गठित करें-
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बंजारे को निर्देशित कर कलेक्टर ने कहा कि वे प्रत्येक क्वॉरेंटाइन सेंटर में स्वास्थ्य जांच के लिए चिकित्सा स्टाफ की ड्यूटी लगायें। उन्होंने कहा कि कोविड-19 का वायरस की जांच के लिए सैंपल लेने और टेस्ट किट की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करें, ताकि शीघ्र संदेहास्पद मजदूरों के कोरोना वायरस संक्रमण की जांच की जा सके।
छत्तीसगढ़ की सीमा में जांजगीर-चांपा जिले के मजदूरों के लिए वाहन आदि की समुचित व्यवस्था के निर्देश
जांजगीर-चांपा जिले के दूसरे प्रांतों से छत्तीसगढ़ की सीमा में आने वाले मजदूरों को जिले में उनके गृह ग्राम तक पहुंचाने बस की व्यवस्था के निर्देश कलेक्टर ने दिए हैं । उन्होंने इन प्रवासी श्रमिकों के लिए भोजन, पेयजल ,कोविड-19 संक्रमण के रोकथाम के लिए सेनेटाइजर, हैंडवॉश, स्वास्थ्य सुरक्षा आदि की पुख्ता व्यवस्था के लिए अधिकारियों को आवश्यक जिम्मेदारी सौंप दी है। गांव से आने वाले श्रमिकों को क्वॉरेंटाइन की अवधि में भोजन, पेयजल, स्वच्छता आदि की व्यवस्था पंचायत स्तर से करने की कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश जिला पंचायत सीईओ तीर्थराज अग्रवाल को सौंपा गया है। उन्होंने अन्य राज्यों से जांजगीर चांपा जिले में आने वाले विभिन्न मार्गों को चिन्हित करने और उसके अनुरूप उन्हें उनके निवास गांव तक पहुंचाने अधिकारियों की ड्यूटी लगाने कहा है । उन्होंने जांजगीर-चांपा जिले के विभिन्न ग्रामों में अन्य प्रांतों से आने वाले लोगों की जानकारी संकलित करने के निर्देश श्रम पदाधिकारी को दिए।
बैठक में पुलिस अधीक्षक श्रीमती पारुल माथुर ,जिला पंचायत सीईओ तीर्थराज अग्रवाल, अपर कलेक्टर श्रीमती लीना कोसम, संयुक्त कलेक्टर सचिन भूतड़ा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मधुलिका सिंह सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे.

READ ALSO-  जांजगीर. जैजैपुर क्षेत्र में बाइक की टक्कर से 3 साल के बच्चे को आई गम्भीर चोट, बिलासपुर के अस्पताल में भर्ती