Press "Enter" to skip to content

जन्म, मृत्यु की घटनाओं का ऑनलाइन पंजीयन की प्रक्रिया शुरू

जांजगीर चांपा. भारत के महापंजीयक जन्म, मृत्यु एवं राज्य शासन के निर्देशानुसार जिले के नगरीय निकाय और ग्रामीण क्षेत्रों अर्थात ग्राम पंचायतों के अंतर्गत सभी स्वास्थ्य केंद्रों में घटित होने वाली जन्म,मृत्यु, मृत- जन्म की घटनाओं के पंजीकरण कार्य राष्ट्रीय पोर्टल बतेवतहपण्हवअण्पद पर ऑनलाइन किए जाने की प्रक्रिया आरंभ की गई है।
जिला रजिस्टर जन्म मृत्यु ने बताया कि प्रथम चरण में समस्त नगरीय निकायों, जिला चिकित्सालय, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र एवं प्राथमिक चिकित्सा केंद्रों में घटित होने वाली घटनाओं का पंजीयन पूर्व से ही राष्ट्रीय पोर्टल पर करने के लिए कलेक्टर की ओर से निर्देश जारी किए जा चुके हैं। ऑनलाइन पंजीयन का प्रमाण पत्र प्रदान किया जा रहा है।
उल्लेखनीय है कि जांजगीर-चांपा जिले वर्तमान में 203 इकाइयों में ऑनलाइन पंजीयन व्यवस्था प्रारंभ कर राज्य में प्रथम स्थान पर बना हुआ है। इनमें 15 नगरीय निकाय एवं शेष स्वास्थ्य विभाग के उप स्वास्थ्य केंद्र स्तर तक के स्वास्थ्य केंद्र सम्मिलित हैं। इसके लिए जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से विशेष सहयोग प्राप्त हो रहा है।
जिले के समस्त नगरीय क्षेत्र में इस स्थित निजी चिकित्सालय में भी ऑनलाइन पंजीयन प्रारंभ कराया जा रहा है। जिसकी मॉनिटरिंग संबंधित निकाय के मुख्य नगर पालिका अधिकारी द्वारा की जा रही है। चांपा एवं अकलतरा नगरीय क्षेत्रों के अधिकांश निजी चिकित्सा केंद्रों में यह कार्य पूर्ण कर लिया गया है। जांजगीर नगर के निजी चिकित्सालयों में यह कार्य अभी जारी है। इसे भी शीघ्र ही पूर्ण कराया जा रहा है ।
इसी परिप्रेक्ष्य में अब अंतिम चरण में जिले की समस्त ग्राम पंचायतों में भी आगामी 1 सितंबर से यह व्यवस्था लागू की जा रही है। इसके अंतर्गत कार्यालय आदेश एवं मार्गदर्शक समस्त जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को भेज दिए गए हैं। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद स्तर पर अतिरिक्त जिला रजिस्ट्रार जन्म,मृत्यु के पदेन दायित्वों का निर्वहन कर रहे हैं।
इस कार्य व्यवस्था को लागू करने के लिए प्रत्येक ग्राम पंचायतों में पदस्थ ग्राम पंचायत सचिवों की रजिस्ट्रार (जन्म/मृत्यु) के रूप में कार्य करते हैं । जो राष्ट्रीय पोर्टल पर कार्य करने के लिए लॉगिन आईडी एवं पासवर्ड प्रदान किया गया है।
इसकी सहायता से सचिव पोर्टल पर लॉगइन कर संबंधित घटना का विवरण दर्ज कर प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकते हैं। पोर्टल पर बच्चों के नामकरण के बाद नाम दर्ज करने पूर्व पंजीकृत घटनाओं के रजिस्टर में नाम ढूंढने, नाम संशोधन, प्रमाण पत्रों की अतिरिक्त प्रतिया प्राप्त करना, मासिक,त्रैमासिक रिपोर्ट देखने जैसी समस्त सुविधाएं उपलब्ध है।
पूर्व में लोक सेवा केंद्रों के माध्यम से जन्म,मृत्यु पंजीयन की व्यवस्था राज्य के मुख्य पंचायत जन्म,मृत्यु कार्यालय के निर्देश पर समाप्त कर दी गई है।
जन्म/मृत्यु पंजीयन की नई व्यवस्था के आरंभ होने से डाटा की एकरूपता एवं उच्च गुणवत्ता सुनिश्चित की जा सकेगी। जिला स्तर पर प्रत्येक केंद्र से प्रतिमाह डाटा संलग्न पश्चात एंट्री की आवश्यकता नहीं रह जाएगी। इससे जहां राज्य एवं केंद्र शासन को त्वरित गति से गुणवत्तापूर्ण एवं एकरूपता उपलब्ध हो सकेगा। वहीं प्रत्येक वर्ष इस डाटा के आधार पर स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार हेतु तैयार किए जाने वाले विभिन्न प्रतिवेदनों एवं प्रकाशनों को अधिक शीघ्रता से तैयार किया जा सकेगा।
जिला प्रशासन एवं जिला रजिस्ट्रार जन्म,मृत्यु कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार, ग्राम सचिवों को इस संबंध में दक्ष करने हेतु विभागीय अधिकारियों द्वारा विकासखंड स्तर पर शीघ्र ही प्रशिक्षण का आयोजन किया जा रहा है। इसमें खंड स्तर पर पदस्थ जन्म, मृत्यु के प्रभारी कार्य सहायक को भी सम्मिलित किया जावेगा । सभी ग्राम पंचायत सचिव वकासखंड स्तर पर पदस्थ कार्य विकासखंड स्तर पर सहायक से अपने लॉगइन आईडी एवं पासवर्ड प्राप्त कर सकते हैं।

READ ALSO-  अड़भार चौकी की पुलिस ने नवविवाहिता को मिट्टी तेल डालकर जिंदा जलाने वाले आरोपी पति एवं सास को गिरफ्तार किया, दोनों आरोपी भेजे गए जेल - खबर सीजी न्यूज