Press "Enter" to skip to content

आम आदमी को फिर लगेगा बड़ा झटका, …इतने रुपए तक बढ़ सकते हैं रिचार्ज प्लान के दाम… विस्तार से पढ़िए…

नई दिल्ली. 5जी यानि टेलीकॉम सेवाओं की पांचवी पीढी का फायदा देश के नागरिकों को इसी साल अक्टूबर से मिलना शुरू हो जाएगा. सोमवार को ही स्पेक्ट्रम नीलामी खत्म हुई है. इसी बीच अब एक बार फिर आम आदमी को बड़ा झटका लग सकता है. कहा जा रहा है कि टेलिकॉम कंपनियां टैरिफ में बढ़ोतरी कर सकती हैं. जानकारों के मुताबिक, कंपनियों ने 5जी स्पेक्ट्रम को खरीदने के लिए जमकर पैसा बहाया है और इसकी वसूली ग्राहकों से ही की जाएगी. ऐसे में आम आदमी के मोबाइल का खर्चा बढ़ सकता है.

READ ALSO-  अकेले बोर हो रहे हैं तो देखें अगस्त में रिलीज हो रहीं ये फिल्में और वेब सीरीज. देखना ना भूले..

टेलिकॉम कंपनियों ने हाल में हुई स्पेक्ट्रम नीलामी में विभिन्न बैंड्स में 51,236 MHz स्पेक्ट्रम 1.5 लाख करोड़ रुपये में खरीदे थे. देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी रिलायंस जियो ने 88,078 करोड़ रुपये का स्पेक्ट्रम खरीदा. भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने क्रमश: 43,084 करोड़ रुपये और 18,799 करोड़ रुपये के स्पेक्ट्रम खरीदे. सरकार ने सितंबर 2021 के बाद खरीदे गए सभी स्पेक्ट्रम पर स्पेक्ट्रम यूसेज चार्जेज (SUC) हटा दिया है. इससे कंपनियों को सालाना करीब 7,500 करोड़ रुपये की बचत होगी.

READ ALSO-  5G India: इन शहरों में सबसे पहले आएगा 5G नेटवर्क! जानिए लॉन्च डेट...

ये कंपनियां बढ़ा सकती है दाम
ग्राहकों को 5जी से जोड़ने के लिए कंपनियां 4जी सर्विसेज के टैरिफ भी महंगा कर सकती हैं। टैरिफ बढ़ने से एयरटेल (Airtel), रिलायंस जियो (Reliance Jio) और वोडाफोन आइडिया (Vodafone Idea) के टैरिफ महंगे हो जाएंगे. इससे इन सभी कंपनियों के प्लान महंगे हो जाएंगे. टेलिकॉम कंपनियां अपने सभी ओवरऑल सब्सक्राइबर्स बेस के लिए टैरिफ में चार फीसदी की इंक्रिमेंटल बढ़ोतरी कर सकती हैं.

error: Content is protected !!