अपराध छत्तीसगढ़

पेंगोलिन की तस्करी के आरोप में 2 आरोपियों को जेल, वन विभाग की टीम ने की कार्रवाई

Follow Us on-
Share on-

रायपुर. वन तथा जलवायु परिवर्तन मंत्री मोहम्मद अकबर के निर्देशानुसार वन विभाग द्वारा राज्य में वन अपराधों की रोकथाम के लिए सतत अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत टीम द्वारा गरियाबंद वन मंडल के अंतर्गत एक जिंदा पेंगोलिन के साथ 2 तस्करों को धर-दबोचा गया और दोनों आरोपियों के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई करते हुए उन्हें जेल दाखिला कराया गया है।

इस संबंध में मुखबिर से मिली जानकारी के आधार पर मुख्य वन संरक्षक रायपुर वृत्त जे.आर. नायक के निर्देशन तथा वन मंडलाधिकारी गरियाबंद मयंक अग्रवाल के मार्गदर्शन में तत्काल टीम गठित की गई और टीम द्वारा व्यापारी बनकर तस्करों से पेंगोलिन का सौदा एक लाख 50 हजार रूपए में तय किया गया। तस्करों द्वारा महासमुंद जिले के बागबाहरा क्षेत्र में बोकरामुड़ा के पास तुलसीपारा लारी में पेंगोलिन को दिखाया गया।

ये भी पढ़ें-  हत्या के 2 आरोपी गिरफ्तार, पुरानी रंजिश में सल्फास की गोली खिलाकर दिया था घटना को अंजाम, 5 दिसम्बर 2020 की घटना, ऐसे हुआ खुलासा... पढ़िए...

पेंगोलिन के साथ जैसे ही तस्कर व्यापारी बने वन कर्मचारियों को सौंप रहे थे कि घेरा बंदी में पहुंचे गरियाबंद तथा छुरा वन परिक्षेत्र के गठित टीम द्वारा चारों तरफ से घेरा बंदी कर दोनों तस्करों को धर-दबोचा गया। उनके द्वारा बोरा में छिपाए गए पेंगोलिन को भी जिंदा बरामद किया गया। दोनों तस्कर तिलक मरकाम तथा बलराम मरकाम ग्राम घोटपानी पोस्ट काठीगांव तहसील थाना छुरा जिला गरियाबंद के खिलाफ वन अपराध प्रकरण दर्ज कर उन्हें जेल दाखिला कराया गया है।

अभियान में उप वन मंडलाधिकारी मनोज चन्द्राकर तथा गुलशन कुमार साहू लोकेश्वर सिंह चौहान, शिवनारायण वर्मा आदि विभागीय अमला का भरपूर योगदान रहा।

ये भी पढ़ें-  पत्नी को जलाकर मारने वाले आरोपी पति को पुलिस ने गिरफ्तार किया, आरोपी पति को भेजा गया जेल... इस वजह से दिया था घटना को अंजाम... पढ़िए...

Share on-

Advertisment

error: Content is protected !!